Top
Home > Lead Story > एयरस्ट्राइक के सबूत मांगना सेना का अपमान : पूर्व थलसेना अध्यक्ष

एयरस्ट्राइक के सबूत मांगना सेना का अपमान : पूर्व थलसेना अध्यक्ष

एयरस्ट्राइक के सबूत मांगना सेना का अपमान : पूर्व थलसेना अध्यक्ष
X

नई दिल्ली/चंडीगढ़। पूर्व थलसेना अध्यक्ष जनरल जेजे सिंह ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा है कि एयरस्ट्राइक के सबूत मांगना सेना का अपमान है।

शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) के खडूर साहिब लोकसभा सीट से उम्मीदवार रिटायर्ड जनरल सिंह ने शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वायुसेना से आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के सबूत मांगकर उसका अपमान नहीं करना चाहिए। भारतीय सेना हर प्रकार के खतरे से निपटने के लिए हर वक्त तैयार रहती है। राजनीतिक लाभ के लिए कुछ पार्टियों और उनके नेताओं को सेना पर टिप्पणी करने से बाज आना चाहिए। सैन्य कार्रवाई को गोपनीय ढंग से अंजाम दिया जाता है। सैन्य कार्रवाई से जुड़ी हर बात बताना आवश्यक नहीं है, कुछ बातें गोपनीय भी होती हैं।

एक सवाल पर सिंह ने कहा कि वह खडूर साहिब लोकसभा क्षेत्र में जल्द ही अपनी चुनावी मुहिम शुरू करेंगे। अगर खडूर साहिब लोकसभा क्षेत्र के लोग उनका साथ देते हैं तो वह लोगों की आवाज बनकर उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे। अकाली दल की उम्मीदवार बीबी जगीर कौर की चुनाव रैली में नशा परोसने संबंधी वायरल हो रही वीडियो पर उन्होने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह अपनी चुनावी मुहिम साफ-सुथरे ढंग से चलाएंगे और लोगों को नशे से दूर रखा जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवाम में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायीन हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान प्रयोजित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने जैश के पाकिस्तान स्थित ठिकानों पर हमला किया था। इसमें 350 आतंकियों के मारे जाने का दावा किया गया था, जिस पर देश के कुछ राजनीतिक दलों ने सवाल उठाए थे।

Updated : 2019-03-15T20:59:44+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top