Top
Home > विदेश > यूएसए ने भारत को हथियार बेचने की दी मंजूरी, सशस्त्र बलों को आधुनिक बनाने में मिलेगी मदद

यूएसए ने भारत को हथियार बेचने की दी मंजूरी, सशस्त्र बलों को आधुनिक बनाने में मिलेगी मदद

यूएसए ने भारत को हथियार बेचने की दी मंजूरी, सशस्त्र बलों को आधुनिक बनाने में मिलेगी मदद

वाशिंगटन। अमेरिका ने भारत को एकीकृत वायु रक्षा हथियार प्रणाली बेचने को मंजूरी दे दी है। इससे भारत को अपने सशस्त्र बलों को आधुनिक बनाने के साथ ही वर्तमान वायु रक्षा ढांचे को विस्तारित करने में मदद मिलेगी। डिफेंस सिक्योरिटी कोऑपरेशन एजेंसी ने सोमवार को बताया कि ट्रंप प्रशासन ने अमेरिकी संसद को सूचित किया है कि वह भारत को एकीकृत वायु रक्षा हथियार प्रणाली (आईएडीडब्ल्यूएस) बेचने के लिए दृढ़ संकल्पित है।

विदेश विभाग ने संसद को सूचित किया कि इस पूरी प्रणाली की कीमत करीब 1.867 अरब अमेरिकी डॉलर होगी। संसद को दी गई सूचना के अनुसार, भारत ने अमेरिका से कहा था कि वह आईएडीडब्ल्यूएस खरीदना चाहता है। भारत ने पांच एएन/एमपीक्यू-64एफआई सेंटीनल राडार प्रणाली, 118 एएमआरएएएम एआईएम-120सी-7/सी-8 मिसाइलें, तीन एएमआरएएएम गाइडेंस सेक्शन, चार एएमआरएएएम कंट्रोल सेक्शन और 134 स्ट्रिंगर एफआईएम-92एल मिसाइलें खरीदने की इच्छा जताई है।

भारत ने साथ ही अन्य कई तरह की राइफलें, गोलियां और अन्य रक्षा उपकरणों की खरीदने की इच्छा जताई है। भारत ने हाल के वर्षों में अमेरिका से बढ़ते रक्षा संबंधों के हिस्से के रूप में रक्षा खरीद को आगे बढ़ाया है। 2008 में एनआईएल से, भारत-अमेरिकी रक्षा व्यापार 17 अरब डॉलर तक बढ़ गया है।

Updated : 10 Feb 2020 11:30 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top