Top
Home > विदेश > तीन देशों की यात्रा पर सुषमा स्वराज, तुर्केमिस्तान में विदेश मंत्री से की मुलाकात

तीन देशों की यात्रा पर सुषमा स्वराज, तुर्केमिस्तान में विदेश मंत्री से की मुलाकात

तीन देशों की यात्रा पर सुषमा स्वराज, तुर्केमिस्तान में विदेश मंत्री से की मुलाकात
X

नई दिल्ली। मध्य एशियाई देशों की किर्गिस्तान , कजाकिस्तान और उज़्बेकिस्तान की यात्रा पर निकली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तुर्केमेनिस्तान की राजधानी अशगाबाद में रुकीं। सुषमा ने कहा कि कैबिनेट के उपाध्यक्ष एवं विदेश मंत्री से मुलाकात की। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज दो से पांच अगस्त से मध्य एशियाई क्षेत्र में तीन देशों, किर्गिस्तान , कजाकिस्तान और उज़्बेकिस्तान की यात्रा पर हैं। वह दो से तीन अगस्त को कज़ाकिस्तान गणराज्य में, किर्गिस्तान गणराज्य में तीन से चार अगस्त को और उज्बेकिस्तान गणराज्य में चार और पांच अगस्त को होंगी। तीन केंद्रीय एशियाई देशों में ईएएम की यात्रा विदेश मंत्री के रूप में इन देशों की पहली यात्रा है।

कजा़किस्तान की अपनी यात्रा के दौरान राजधानी अस्थाना में स्वराज कजाक विदेश मंत्री कैरत अब्द्राखमानोव से मुलाकात करेंगी। इस दौरान भारत-कजाकिस्तान द्विपक्षीय संबंधों पर वार्ता होगी। वे कजाकिस्तान गणराज्य के राजनीतिक नेतृत्व से भी मुलाकात करेंगी। साथ ही कज़ाकिस्तान में भारतीय समुदाय के साथ बातचीत करेंगी।

अपनी तीन देशों की इस यात्रा के द्वितीय चरण में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज किर्गिज गणराज्य के विदेश मामलों के मंत्री अर्लन अब्दिलडेव से मुलाकात करेंगी। दोनों के बीच भारत-किर्गिज गणराज्य के बीच द्विपक्षीय स्तर की वार्ता होगी। भारत और किर्गिस्तान राजनीतिक, संसदीय, रक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य सहित बहु-आयामी संबंध साझा करते हैं। दिसंबर 2015 में किर्गिज गणराज्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की द्विपक्षीय यात्रा और दिसंबर 2016 में किर्गिज गणराज्य के तत्कालीन राष्ट्रपति के साथ-साथ एससीओ शिखर सम्मेलनों के मार्जिन पर बातचीत ने परंपरागत रूप से सौहार्दपूर्ण और घनिष्ठ संबंधों को समेकित किया है। विदेश मंत्री ने पहले यूएनजीए के मार्जिन सहित कई अवसरों पर विदेश मंत्री अब्द्यल्देव के साथ बातचीत की थी।

अपने तीन मध्य एशियाई देशों की यात्रा के अंतिम चरण में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज 4 अगस्त को ताशकंद पहुंचेंगी। जहां वे उज्बेकिस्तान के विदेश मामलों के मंत्री अब्दुलजाज कामिलोव के साथ वार्ता करेंगी। दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच भारत-उज्बेकिस्तान द्विपक्षीय संबंधों को लेकर विस्तार से चर्चा होगी। स्वराज उज्बेकिस्तान के नेतृत्व से भी मुलाकात करेंगी। उनकी यात्रा में इंडोलॉजिस्ट और भारतीय समुदाय के सदस्यों के साथ बातचीत शामिल होगी। वह भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय लालबहादुर शास्त्री के स्मारक में पुष्पांजलि अर्पित करेंगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2015 में और जून 2016 में एससीओ शिखर सम्मेलन के समय उज्बेकिस्तान का दौरा किया था। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 2017 और 2018 में द्विपक्षीय यात्राओं के दौरान विदेश मंत्री कामिलोव से मुलाकात की थी।

Updated : 2018-08-03T02:42:56+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top