Top
Home > विदेश > हाफिज सईद की सजा पर भारत ने उठाए सवाल

हाफिज सईद की सजा पर भारत ने उठाए सवाल

हाफिज सईद की सजा पर भारत ने उठाए सवाल
X

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की लाहौर आतंकवाद विरोधी कोर्ट ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद को दो आतंकी वित्तपोषण के मामलों में दोषी ठहराते हुए प्रत्येक में साढे पांच साल की सजा सुनाई है। यह दोनों सजा साथ-साथ चलेंगी। साथ ही सईद पर 15 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

हाफिज सईद को काउंटर टैररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) ने पिछले साल जुलाई में गिरफ्तार किया था, जब वह लाहौर से गुजरांवाला जा रहा था।

सईद को आतंकवाद वित्त पोषण, मनी-लॉन्ड्रिंग के साथ–साथ अवैध भूमि कब्जाने संबंधित 29 मामलों में नामजद किया गया है। उसके खिलाफ दो मामलों में 06 फरवरी को फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। दोनों मामलों की सुनवाई के दौरान अदालत ने 23 गवाहों के बयान दर्ज किए।

सीटीडी के अनुसार सईद, जेयूडी अल अनफाल ट्रस्ट, दावातुल इरशाद ट्रस्ट, मुआज बिन जबाल ट्रस्ट आदि गैर लाभकारी संगठनों और ट्रस्टों के माध्यम से इकट्ठे किए गए धन से आतंकवाद का वित्तपोषण कर रहा था। इन गैर लाभकारी संगठनों पर पिछले साल अप्रैल में सीटीडी के रूप में प्रतिबंध लगा दिया गया था। विस्तृत जांच के दौरान पाया गया कि उसके जेयूडी और शीर्ष नेताओं के साथ संबंध थे। पिछले साल दिसम्बर में हाफिज सईद को आतंकी वित्त पोषण के आरोपों में दोषी पाया गया था।

हाफिज़ सईद को सुनाई गई सजा भारत के लिए एक बड़ी जीत है जो पिछले 11 सालों से ज्यादा वक्त से हाफिज को कानून के कठघरे में खड़ा करने की लड़ाई लड़ रहा है।

फाइनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (एफएटीएफ) की कार्रवाई से बचने के लिए पाकिस्तान में एक बार फिर हाफिज सईद के खिलाफ दिखावटी कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो गया है। कूटनीतिक जानकारों का कहना है कि पाकिस्तान एफएटीएफ की काली सूची में पड़ने से बचने के लिए पहले भी इस तरह की अदालती कार्रवाई को उदाहरण के तौर पर पेश करने का प्रयास करता रहा है। उसे बार-बार मोहलत मिलती रही है, पर पाक ने आतंक के स्रोतों पर निर्णायक कार्रवाई नहीं की।

सूत्रों के मुताबिक भारत पाकिस्तान की दिखावटी कार्रवाई को बहुत तवज्जो नहीं देता। सच यही है कि आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान का रवैया बहुत ही लचर रहा है। अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को उसने पूरा नहीं किया। एफएटीएफ की आंख में भी धूल झोंककर बचने का प्रयास करता रहा है। सूत्रों ने कहा कि भारत पाकिस्तान की दिखावटी कार्रवाई पर नजर रखते हुए उसे बेनकाब करने का सिलसिला जारी रखेगा। भारत ने पहले भी अंतरराष्ट्रीय समूह को बताया है कि पाकिस्तान अपने यहां आतंकी अड्डों को पाल-पोस रहा है।

Updated : 13 Feb 2020 7:46 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top