Top
Home > मनोरंजन > सुशांत केस : एम्स की फॉरेंसिक रिपोर्ट आई सामने, सुशांत सिंह राजपूत के विसरा में नहीं पाया गया जहर

सुशांत केस : एम्स की फॉरेंसिक रिपोर्ट आई सामने, सुशांत सिंह राजपूत के विसरा में नहीं पाया गया जहर

सुशांत केस : एम्स की फॉरेंसिक रिपोर्ट आई सामने, सुशांत सिंह राजपूत के विसरा में नहीं पाया गया जहर
X

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सीबीआई को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट में जहर की बात सामने नहीं आई है। टीवी चैनल ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि सुशांत सिंह राजपूत के विसरा में जहर नहीं पाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, सुशांत के शरीर में किसी तरह का ऑर्गेनिक जहर नहीं मिला है। गौरतलब है कि सुशांत सिंह के पिता केके सिंह ने दावा किया था कि रिया चक्रवर्ती ने जहर देकर उनके बेटे सुशांत की हत्या की है। वहीं, उनके वकील विकास सिंह ने एक्टर के मर्डर होने की बात कही थी।

सुशांत केस की जांच में सीबीआई जुटी हुई है। हालांकि, एक्टर की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को लेकर कूपर अस्पताल अभी भी सवालों के घेरे में है। मालूम हो कि कूपर अस्पताल पर सुशांत मामले में लापरवाही बरतने का आरोप है। कूपर अस्पताल के डॉक्टर्स ने सुशांत का पोस्टमॉर्टम किया था, जिस पर सवाल उठे थे। जानकारी के मुताबिक, सीबीआई इस बात का भी पता लगा रही है कि पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट में सुशांत की मौत का समय और अन्य बातों का जिक्र क्यों नहीं है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कल यानी सोमवार को एक विस्तृत बैठक हुई, जिस दौरान एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सीबीआई को अपने निर्णायक निष्कर्ष रिपोर्ट सौंपी। बता दें कि डॉ सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता वाली समिति का गठन केंद्रीय जांच ब्यूरो के अनुरोध पर किया गया था ताकि पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट का गहन अध्ययन किया जा सके।

पिछले दिनों बताया गया था कि एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सुशांत की मौत में जहर की जांच के लिए विसरा टेस्ट किया था। इससे पहले सीबीआई ने सुशांत सिंह राजपूत के मुंबई स्थित घर पर फॉरेंसिक जांच और आगे की जांच के लिए दिल्ली एम्स से तीन सदस्यीय डॉक्टरों की एक विशेष टीम बुलाई थी। बता दें कि इससे पहले डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व वाली एम्स की फॉरेंसिक टीम ने शीना बोरा मामले और सुनंदा पुष्कर मामले जैसे कई हाई प्रोफाइल मामलों में अपनी चिकित्सकीय-कानूनी राय पेश की थी।


Updated : 2020-09-29T15:48:06+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top