Top
Home > शिक्षा > शिक्षा क्षेत्र के लिए गेम चेंजर साबित होगी नई शिक्षा व्यवस्था

शिक्षा क्षेत्र के लिए गेम चेंजर साबित होगी नई शिक्षा व्यवस्था

शिक्षा क्षेत्र के लिए गेम चेंजर साबित होगी नई शिक्षा व्यवस्था
X

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) भुवनेश्वर के नौवें दीक्षांत समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 सम्पूर्ण शिक्षा व्यवस्था के लिए एक गेम चेंजर साबित होगी। इस दौरान उन्होंने यहां छात्र गतिविधि केंद्र, खेल परिसर और मानविकी सामाजिक विज्ञान एवं प्रबंधन विद्यापीठ का उद्घाटन भी किया।

निशंक ने कहा कि जिस प्रकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति छात्रों के समग्र विकास को ध्यान में रखकर बनाई गई है, उसी तरह आईआईटी भुवनेश्वर ने सभी पहलुओं पर काम करते हुए अपने छात्रों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा एक दीर्घकालिक निवेश है, जिसका लाभ कई दशकों में मिलेगा। निशंक ने अपने 13 वर्ष के अस्तित्व में आईआईटी भुवनेश्वर द्वारा किए गए उल्लेखनीय कार्यों के साथ-साथ कोरोना संकट काल में संस्थान द्वारा किए गए कार्यों की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, आईआईटी भुवनेश्वर ने पारंपरिक प्रणाली के बजाय ऑनलाइन तरीके से परीक्षाएं आयोजित करने का एक विश्वसनीय तंत्र विकसित किया, जो बेहद सराहनीय है। इसके अलावा जब कोरोना महामारी चरम पर थी तब भी संस्थान ने एक भी दिन गंवाए बिना ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा जारी रखी।

नई शिक्षा नीति के बारे में इस कार्यक्रम से जुड़े सभी लोगों को बताते हुए उन्होंने कहा, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, शिक्षा के सभी क्षेत्रों में सुधारों को परिभाषित करती है। इस नीति के मुख्य उद्देश्यों में से एक स्कूल शिक्षा से उच्च शिक्षा में तकनीकी शिक्षा को शामिल करना है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति समग्र और बहु-विषयक शिक्षा के साथ-साथ अतिरिक्त शैक्षणिक गतिविधियों जैसे कि खेलकूद और मानविकी विषयों पर पर्याप्त जोर देती है।

नई शिक्षा नीति के कार्यान्वयन के बारे में बात करते हुए डॉ निशंक ने कहा कि इस नीति के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी हम सभी की है। उन्होंने कहा, मैं आप सभी लोगों से आह्वान करता हूं कि आपके पास ज्ञान, अनुभव, स्किल्स तथा एक्सपर्टीज का एक भरपूर खजाना है तो अब समय आ गया है कि अपनी क्षमताओं का उपयोग कर एक नए भारत, श्रेष्ठ, सशक्त, समृद्ध भारत का निर्माण करें। वह दिन दूर नहीं जब हम अपने भारत को पुनः विश्व गुरू के रूप में स्थापित करेंगे।

छात्र गतिविधि केंद्र, खेल परिसर और मानविकी सामाजिक विज्ञान एवं प्रबंधन विद्यापीठ का उद्घाटन करते हुए निशंक ने कहा कि मुझे यह जानकर बेहद खुशी हुई कि संस्थान फिट इंडिया कार्यक्रम को निष्पादित करने के लिए बहुत अधिक महत्व दे रहा है और हमारी कोशिश है कि हम अपने युवाओं को कल के नेता बनने के लिए सशक्त बनाएं।

इस कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे, अधिशासी मंडल के अध्यक्ष आरपी सिंह, आईआईटी भुवनेश्वर के निदेशक प्रो. राजकुमार, फैकल्टी के सदस्य, छात्र-छात्राएं एवं उनके अभिभावक भी जुड़े।

Updated : 4 Dec 2020 11:53 AM GMT

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top