Top
Home > अर्थव्यवस्था > वाहन कलपुर्जा बनाने वाली इंडस्ट्री की हालत खराब, 1 लाख लोग हुए बेरोजगार

वाहन कलपुर्जा बनाने वाली इंडस्ट्री की हालत खराब, 1 लाख लोग हुए बेरोजगार

वाहन कलपुर्जा बनाने वाली इंडस्ट्री की हालत खराब, 1 लाख लोग हुए बेरोजगार

नई दिल्ली। वाहन कलपुर्जा बनाने वाली ऑटो कंपोनेंट इंडस्‍ट्री की हालत अभी ठीक नहीं है। इसमें काम करने वाले एक लाख लोगों की नौकरियां जा चुकी है। इंडस्‍ट्री के आंकडे बताते हैं कि चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 10 फीसदी तक कारोबार का मार्केट गिर गया है। इससे करीब 1 लाख अस्थायी लोगों की नौकरियां जा चुकी है। इस इंडस्‍ट्री के संगठन ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (एक्मा) के अनुसार, ऑटो मार्केट में गिरावट का असर कलपुर्जा बनाने वाली कंपनियों पर दिखाई देने लगा है। एक्मा के अनुसार, चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में ऑटो कंपोनेंट इंडस्‍ट्री ने कुल 1.79 लाख करोड़ रुपए का बिजनीस किया है। यदि हम एक साल पहले से इसकी तुलना करें तो पाएंगे 10 फीसदी की गिरावट। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में ऑटो कंपोनेंट इंडस्‍ट्री का कुल कारोबार 1.99 लाख करोड़ रुपए था।

एक्मा ने बताया कि कारोबार में सुस्‍ती का असर निवेश पर भी दिखाई दे रहा है और ऑटो कंपोनेंट इंडस्‍ट्री को 2 अरब डॉलर तक के निवेश का भी नुकसान हुआ है। ऑटो इंडस्‍ट्री लंबे समय से सुस्‍ती छाई हुई है। पिछले एक साल से सभी कैटेगरी की कार बिक्री में गिरावट दर्ज की गई है।

आपको बताते जाए कि ऑटो सेक्‍टर में लंबे समय से सुस्‍ती के दौर से गुजर रहा है। इस सेक्‍टर की हर बड़ी कंपनी की बिक्री में गिरावट दर्ज की है। इन हालातों में मारुति सुजुकी, अशोक लीलैंड समेत कई बड़ी कंपनियों ने अपने उत्पादन में कटौती कर दी है।

Updated : 7 Dec 2019 8:52 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top