Home > अर्थव्यवस्था > मंदी की आशंका से गिरा शेयर बाजार , निवेशकों के लाखों रुपए डूबे, सेंसेक्स 1,093 अंक लुढ़का

मंदी की आशंका से गिरा शेयर बाजार , निवेशकों के लाखों रुपए डूबे, सेंसेक्स 1,093 अंक लुढ़का

मंदी की आशंका से गिरा शेयर बाजार , निवेशकों के लाखों रुपए डूबे, सेंसेक्स 1,093 अंक लुढ़का
X

मुंबई। सप्ताह से आखिरी कारोबारी दिन घरेलू शेयर बाजार को चौतरफा बिकवाली के दबाव की वजह से जबरदस्त गिरावट का सामना करना पड़ा। बाजार पर मंदड़ियों के कब्जे के कारण लगातार तीसरे दिन घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुए। बाजार में बिकवाली का दबाव इतना अधिक था कि सेंसेक्स 1,246 अंक तक और निफ्टी 380 अंक तक लुढ़क गया। दिन भर हुई बिकवाली के कारण सेंसेक्स 59 हजार अंक से भी नीचे गिरकर 58 हजार अंक के दायरे में पहुंच गया। इसी तरह निफ्टी भी अपनी पूरी तेजी खोकर 17,500 अंक के दायरे में पहुंच गया।

दिन भर के कारोबार में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के सभी 11 सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में कारोबार करते नजर आए। इनमें सबसे अधिक 3.31 प्रतिशत की गिरावट मीडिया सेक्टर में दर्ज की गई। पीएसयू बैंक, ऑटोमोबाइल, रियल्टी और मेटल इंडेक्स में 2 प्रतिशत से अधिक की गिरावट रिकॉर्ड की गई। इसके अलावा फाइनेंशियल सर्विसेज और एफएमसीजी सेक्टर में भी 1 प्रतिशत से अधिक की तथा फार्मास्यूटिकल सेक्टर में 1 प्रतिशत से थोड़ा कम गिरावट दर्ज की गई।

माना जा रहा है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मंदी की आहट के कारण दुनिया भर के शेयर बाजारों में दबाव की स्थिति बन गई है। गुरुवार को अमेरिकी बाजार जबरदस्त गिरावट के साथ बंद हुए थे, जिसका असर आज एशियाई बाजारों के कारोबार पर भी नजर आया। भारतीय बाजार भी कमजोर वैश्विक संकेतों की वजह से कारोबार की शुरुआत से ही लगातार नीचे लुढ़कता रहा। हालांकि खरीदारों ने बीच-बीच में तेज लिवाली करके शेयर बाजार को सपोर्ट देने की कोशिश की लेकिन वैश्विक दबाव की वजह से बिकवाली का जोर इतना अधिक बना रहा कि खरीदारी की कोई भी कोशिश बाजार को अधिक देर तक सहारा नहीं दे सकी।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स आज 348.29 अंक की कमजोरी के साथ 59,585.72 अंक के स्तर पर खुला। बाजार शुरू होते ही कुछ मिनट के लिए सेंसेक्स में तेजी आई और ये उछलकर 59,720.56 अंक के स्तर तक पहुंच गया। कुछ ही देर में बाजार में बिकवाली का दबाव बनने लगा। शुरुआती 20 मिनट के कारोबार के बाद मंदड़ियों ने चौतरफा बिकवाली शुरू कर दी, जिसके कारण सेंसेक्स तेजी से नीचे गिरने लगा।

सेंसेक्स में गिरावट का ये दौर दोपहर 2 बजे के कुछ देर तक जारी रहा। इसके बाद खरीदारों ने लिवाली करके बाजार को सहारा देने की कोशिश की, जिससे सेंसेक्स भी कुछ देर के लिए ऊपर उठता हुआ नजर आया। आधे घंटे के कारोबार के बाद ही एक बार फिर तेज बिकवाली शुरू हो गई, जिससे सेंसेक्स 1,246.84 अंक का गोता लगाकर आज के सबसे निचले स्तर 58,687.17 अंक तक पहुंच गया। हालांकि आखिरी आधे घंटे के कारोबार में इंट्रा-डे सेटेलमेंट की वजह से इस सूचकांक की स्थिति में कुछ सुधार हुआ, जिससे सेंसेक्स 1,093.22 अंक यानी 1.82 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 58,840.79 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने आज 80.60 अंक की कमजोरी के साथ 17,796.80 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती कारोबार में निफ्टी में भी मामूली तेजी आई और ये सूचकांक उछल कर 17,820.05 अंक के स्तर पर पहुंच गया। इसके बाद बाजार में शुरू हुई तेज बिकवाली ने निफ्टी को भी गोता लगाने के लिए मजबूर कर दिया।बिकवाली के दबाव की वजह से दोपहर 2:30 बजे तक निफ्टी 380.15 अंक टूट कर आज के सबसे निचले स्तर 17,497.25 अंक तक पहुंच गया। इस जोरदार गिरावट के बाद खरीदारों ने लिवाली करके बाजार को सहारा देने की कोशिश की, जिससे कुछ देर के लिए निफ्टी ने ऊपर चढ़ने की कोशिश की। आधे घंटे बाद ही बाजार में एक बार फिर बिकवाली शुरू हो गई, जिसके कारण ये सूचकांक एक बार फिर नीचे लुढ़क गया। चौतरफा बिकवाली के दबाव की वजह से निफ्टी ने 362.15 अंक यानी 2.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,515.25 अंक के स्तर पर आज के कारोबार का अंत किया।

टॉप लूजर्स -

दिन भर के कारोबार के बाद सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 28 शेयर बिकवाली के दबाव की वजह से लाल निशान में बंद हुए जबकि 2 शेयर खरीदारी के समर्थन से हरे निशान में बंद हुए। इसी तरह निफ्टी में शामिल 50 शेयरों में से सिर्फ 2 शेयरों में तेजी रही जबकि 48 शेयर बिकवाली के दबाव के कारण लाल निशान में बंद हुए।दिन भर हुई खरीद बिक्री के बाद स्टॉक मार्केट के दिग्गज शेयरों में से इंडसइंड बैंक 2.63 प्रतिशत और सिप्ला 0.99 प्रतिशत की मजबूती के साथ टॉप गेनर्स की सूची में शामिल हुए। यूपीएल 5.28 प्रतिशत, टाटा कंस्ट्रक्शन 5.04 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 4.60 प्रतिशत, अल्ट्राटेक सीमेंट 4.55 प्रतिशत और इंफोसिस 3.89 प्रतिशत की कमजोरी के साथ आज के टॉप 5 लूजर्स की सूची में शामिल हुए।

Updated : 16 Sep 2022 11:54 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top