Top
Home > अर्थव्यवस्था > रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपए का योगदान दिया

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपए का योगदान दिया

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपए का योगदान दिया

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने आज कोरोनेवायरस महामारी के खिलार्फ देश के संघर्ष में योगदान करते हुए प्रधानमंत्री के आहवान का समर्थन करते हुए पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपए के दान की घोषणा की है।आरआईएल ने यह भी बताया कि पीएम के फंड में वित्तीय योगदान के अलावा, कंपनी ने महाराष्ट्र और गुजरात सरकारों को कोविड-19 के खिलाफ अपने संघर्ष का समर्थन करने के लिए 5-5 करोड़ रुपए का योगदान भी प्रदान किया है।

आरआईएल, राष्ट्र को इस महामारी का सामना करने के लिए सक्षम बनाने के लिए जमीनी स्तर पर काम करते हुए बहुस्तरीय प्रयास कर रहा है और 24 घंटे 7 दिन, हर पाल तैयार है। कंपनी देश के लोगों को खाने-पीने का सामान, आपूर्ति, सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव योगदान प्रदान कर रही है और कोरोनावायरस महामारी द्वारा लाई गई अभूतपूर्व चुनौतियों से लड़ने और जीतने के लिए पूरी तरह जोश से प्रेरित है।

आरआईएल ने पहले ही कोविड-19 के खिलाफ इस कार्य योजना के खिलाफ रिलायंस परिवार की सक्षमता और सुविधाओं को तैनात कर दिया है। आरआईएल और इसकी प्रेरित टीम ने शहरों और गांवों में, सड़कों और गलियों, क्लीनिकों और अस्पतालों, किराने और खुदरा दुकानों पर मौजूद है, और राष्ट्र की सेवा में अतिरिक्त क्षमताओं का उपयोग किया जा रहा है।

आरआईएल और रिलायंस फाउंडेशन एक महत्वपूर्ण प्रयास का नेतृत्व कर रहे हैं जिसमें कई तरह की पहल शामिल हैं। इनमें शामिल हैं:

पीएम-केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपए का योगदान

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपए का योगदान

गुजरात के मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपए का योगदान

भारत का पहला 100 बिस्तर वाला विशेष कोविड-19 अस्पताल सिर्फ दो सप्ताह में कोविड -19 रोगियों को संभालने के लिए तैयार है

अगले दस दिनों में पचास लाख मुफ्त भोजन और अधिक भोजन और नए क्षेत्रों में तेजी से राहत सुविधाओं को बढ़ा रहा है

स्वास्थ्य कर्मियों और देखभाल प्रदान करने वालों के लिए रोजाना एक लाख मास्क

स्वास्थ्य कर्मियों और देखभाल प्रदान करने वालों के लिए रोजाना हजारों पीपीई

देश भर में इमरजेंसी सर्विसेज में सेवाएं प्रदान कर रहे वाहनों को फ्री तेल

जियो मूल रूप से 40 मिलियन से अधिक लोगों और हजारों और हजारों संगठनों को रोजाना 'घर से काम', 'घर से अध्ययन' और 'घर से स्वास्थ्य' के माध्यम से अपने देश को आगे बढ़ाने में मदद करता है।

रिलायंस रिटेल स्टोर और होम डिलीवरी के माध्यम से लाखों भारतीयों के लिए रोजाना आवश्यक आपूर्ति प्रदान करता है

यह समय-समय पर उचित वित्तीय सहायता के अलावा, आरआईएल की राष्ट्र के प्रति समग्र प्रतिबद्धता है। कंपनी और उसके कर्मचारी देश की सेवा की सीमा के साथ-साथ लाखों ताकतों के लिए एक कुशल सहायक सिस्टम होंगे - भारत के डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और देखभाल करने वाले, सरकारी अधिकारी, पुलिस और शांति सेना, परिवहन और आवश्यक आपूर्ति प्रदाता और करोड़ों भारतीय नागरिक जो इस लड़ाई में योगदान देने के लिए घर पर रह कर काम कर रहे हैं।

आरआईएल अपने विभिन्न प्रभागों में अपने आवश्यक कर्मचारियों के लिए विशेष रूप से सराहना करता है, हमारे अपने नायक, जिन्होंने प्रभावी रूप से वायरस के खिलाफ दूसरी पंक्ति का गठन किया है, जो फ्रंटलाइन बलों का समर्थन करने के साथ-साथ अपने घरों से खतरे में आए लोगों से लड़ रहे हैं, और इसका हिस्सा हैं। उन्होंने एक ऐसा सिस्टम तैयार किया है जो कि इस महामारी के खिलाफ देश की प्रतिक्रिया को लगातार प्रभावी और बनाए रखे हुए है।

आरआईएल कोविड-19 चुनौती के प्रति भारत की प्रतिक्रिया का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है और जब तक यह चुनौती दूर नहीं हो जाती तब तक वह अपने समर्थन को बढ़ाता रहेगा।

श्री मुकेश अंबानी, चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने कहा कि "हमें विश्वास है कि भारत जल्द से जल्द कोरोनोवायरस संकट पर विजय प्राप्त करेगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज की पूरी टीम संकट की इस घड़ी में देश के साथ है और कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई को जीतने के लिए सब कुछ करेगी।"

श्रीमती नीता अंबानी, संस्थापक चेयरपर्सन, रिलायंस फाउंडेशन ने कहा कि '' राष्ट्र कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए एक साथ अा रहा है और हम सभी रिलायंस फाउंडेशन में अपने देशवासियों और महिलाओं के साथ एकजुटता के साथ खड़े होते हैं, खासकर उन लोगों के लिए, जिनका पूरा समर्थन करने के लिए हम प्रतिज्ञा करते हैं। हमारे डॉक्टरों और कर्मचारियों ने भारत के पहले कोविड-19 अस्पताल को स्थापित करने में मदद की है और कोविड-19 की संपूर्ण जांच, परीक्षण, रोकथाम और उपचार में सरकार का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

श्रीमति नीता अंबानी ने कहा कि "हमारे हाशिए पर रहने वाले और दैनिक मजदूरी समुदायों का समर्थन करने के लिए प्रयास करना समय की मांग है। हमारे भोजन वितरण कार्यक्रम के माध्यम से, हम देश भर के लाखों लोगों को प्रतिदिन खाना खिलाने का लक्ष्य रखते हैं।"

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड: परिचय

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) 622,809 करोड़ रुपए ($90.1 बिलियन डॉलर) के कुल टर्नओवर के साथ भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की कंपनी है। आरआईएल का 31 मार्च, 2019 को समाप्त वित्त वर्ष में नकद लाभ 64,478 करोड़ रुपए ($9.3 बिलियन डॉलर) और शुद्ध लाभ 39,588 करोड़ रुपए (5.7 बिलियन डॉलर) रहा। आरआईएल हाइड्रोकार्बन की खोज और उत्पादन, पेट्रोलियम शोधन और विपणन, पेट्रोकेमिकल, खुदरा और डिजिटल सेवाएं के कारोबार में सक्रिय है।

आरआईएल भारत की पहली निजी क्षेत्र की कंपनी है जो 'दुनिया के सबसे बड़े कॉर्पोरेशंस' की फॉर्च्यून की वैश्विक 500 सूची में शामिल है-वर्तमान में राजस्व के मुकाबले 148 वें स्थान पर है और मुनाफे के मुताबिक 99 वें स्थान पर है, जो सूची में सबसे अधिक लाभदायक भारतीय कंपनी है। 2019 के लिए फोर्ब्स लोबल 2000 रैंकिंग में कंपनी 71वें स्थान पर है-भारतीय कंपनियों में सबसे ज्यादा है। यह लिंक्डइन की 'शीर्ष कंपनियों जहां भारत चाहता है अब काम करना' (2019) में भी 10वें स्थान पर है। आरआईएल की गतिविधियों में हाइड्रोकार्बन खोज और उत्पादन, पेट्रोलियम शोधन और विपणन, पेट्रोकेमिकल, खुदरा और डिजिटल सेवाएं शामिल हैं।

Updated : 30 March 2020 5:51 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top