Top
Home > अर्थव्यवस्था > क्रेडिट कार्ड के खर्च को अब ऐसे करें नियंत्रित, नहीं होगी दिक्कत

क्रेडिट कार्ड के खर्च को अब ऐसे करें नियंत्रित, नहीं होगी दिक्कत

क्रेडिट कार्ड के खर्च को अब ऐसे करें नियंत्रित, नहीं होगी दिक्कत

नई दिल्ली। क्रेडिट कार्ड के अपने अलग फायदे हैं। लेकिन क्रेडिट कार्ड से अनाप-शनाप खर्च आपको परेशानी में डाल सकता है। बहुत जरूरी हो तब ही क्रेडिट कार्ड लें। सिर्फ फैशन के लिए क्रेडिट कार्ड लेना आपमें कर्ज की आदत डाल सकता है। क्रेडिट कार्ड पर मंथली ब्याज दर 2 से 3 फीसद के करीब होती है। यह आपको जरूर कम दिखती होगी, लेकिन अगर आप वार्षिक ब्याज निकालेंगे तो यह बहुत अधिक होता है।

क्रेडिट कार्ड पर 45 दिन का बिना ब्याज मिलने वाला समय कर्ज का बोझ बढ़ाने का काम करता है। इस साल इससे खर्च को नियंत्रित करने का काम करें। अगर आप क्रेडिट कार्ड की कुल राशि का भुगतान नहीं कर पाते हैं तो उससे खरीददारी बंद कर दीजिए। अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान नहीं करते हैं, तो इससे आपके क्रेडिट स्कोर पर असर होगा। साथ ही आपका बचत भी प्रभावित होगा।

समय पर अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान नहीं करना आपके लिए नुकसानदेह होता है। कभी भी पेमेंट रिमाइंडर को अनदेखा नहीं करें। इससे आपका क्रेडिट स्कोर घटेगा और आपको आगे किसी भी तरह का लोन लेने में कठिनाई हो सकती है। पेमेंट मिस करने पर आप भविष्य में डिफॉल्टर भी बन सकते हैं।

अगर आपको क्रेडिट कार्ड का लोन चुकाने में परेशानी महसूस हो, तो सबसे पहले अपने कार्ड का उपयोग करना कुछ समय के लिए बंद कर दें और लोन पेमेंट के बाद उसे वापस कर दें। लोन चुकाने के लिए योजना बनाएं। आपके पास और भी लोन हों, तो सबसे पहले क्रेडिट कार्ड वाले लोन को चुकाने की कोशिश करें।

क्रेडिट कार्ड से नकदी निकालने से बचना चाहिए। यह क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल का सबसे बुरा तरीका है। क्रेडिट कार्ड से नकदी निकालने पर कोई इंटरेस्ट फ्री अवधि नहीं मिलता है।

Updated : 2020-01-05T16:53:46+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top