Top
Home > देश > IIMC निदेशक केजी सुरेश ने कहा - टिकाऊ विकास के मुद्दे पर स्थायित्व से जुड़ी खबरों को छापने की जरूरत

IIMC निदेशक केजी सुरेश ने कहा - टिकाऊ विकास के मुद्दे पर स्थायित्व से जुड़ी खबरों को छापने की जरूरत

IIMC निदेशक केजी सुरेश ने कहा - टिकाऊ विकास के मुद्दे पर स्थायित्व से जुड़ी खबरों को छापने की जरूरत

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। भारत में ऊर्जा सुरक्षा के साथ जनहितैषी और टिकाऊ विकास को लेकर मीडिया में जागरूकता बढ़ाने के लिए स्ट्रैटसोल फाउंडेशन, ऑइल ऐंड नैचुरल गैस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (ONGC) और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन (IIMC) साथ आए हैं।

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन नई दिल्ली में स्ट्रैटसोल टॉक्स के अंतर्गत 'ऊर्जा और स्थायित्व' विषय पर शनिवार को आयोजित वर्कशॉप में IIMC निदेशक जनरल केजी सुरेश ने विशेष जोर देकर कहा कि - 'भारत में टिकाऊ विकास की परंपरा पुरानी है। यहां मानव की ही नहीं, बल्कि ब्रह्मांड में मौजूद सभी जीवों की चिंता की जाती है। वसुधैव कुटुम्बकम परंपरा से अधिक समावेशी कुछ नहीं हो सकता है।' और इस वर्कशॉप आयोजन के लिए स्ट्रैटसोल फाउंडेशन और ओएनजीसी की सराहना करते हुए कहा, 'मीडिया के लिए यह महत्वपूर्ण है कि इस ऐसे मुद्दों को सामने लाया जाए जिनका देश और दुनिया में लंबे समय तक प्रभाव रहेगा। स्थायित्व से जुड़ी खबरों को छापने की जरूरत है।'


इस वर्कशॉप में IIMC के स्टूडेंट्स और स्कॉलर्स को व्यवहारिक जानकारी के लिए मीडिया, पीआर, इंडस्ट्री और सिविल सोसाइटी के प्रमुख व्यक्तियों से सीधे संवाद का अवसर मिला और अपनी जिज्ञासाओं का समाधान किया। स्ट्रैटसोल फाउंडेशन के एग्जिक्युटिव प्रेजिडेंट राहुल कश्यप ने कहा, 'संकट की घड़ी में एक अवसर ऐसा भी होता है। जो मौजूदा परिस्थिति में हमें आने वाली पीढ़ी के लिए रास्ता बनाने का अवसर देता है। यह पुरानी नीतियों को दोबारा देखने और गलतियों को सुधारने का समय है।'

Updated : 2018-09-09T21:07:22+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top