Top
Home > देश > व्‍यापमं घोटाला मामला : ईडी ने दायर की चार्जशीट, त्रिवेदी को बनाया मुख्‍य आरोपी

व्‍यापमं घोटाला मामला : ईडी ने दायर की चार्जशीट, त्रिवेदी को बनाया मुख्‍य आरोपी

व्‍यापमं घोटाला मामला : ईडी ने दायर की चार्जशीट, त्रिवेदी को बनाया मुख्‍य आरोपी
X

इंदौर। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पांच साल बाद व्यापमं घोटाले में कोर्ट में पहली चार्जशीट दायर कर दी है। इसमें पीएमटी 2012 और 2013 के साथ ही प्री- पीजी मेडिकल 2012 में हुए घोटाले की जांच रिपोर्ट भी शामिल है। ईडी ने इस मामले में डॉ. जगदीश सागर, डॉ. विनोद भंडारी, व्यापमं के एक्जाम कंट्रोलर व डायरेक्टर डॉ. पंकज त्रिवेदी और अन्य अधिकारी नितिन मोहिंद्रा को आरोपी बनाया गया है। इन पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

ईडी ने इस मामले में जांच के बाद स्पेशल कोर्ट में 2,505 पेज की जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की है। ईडी ने जांच में पाया कि पीएमटी और प्री-पीजी में सागर और भंडारी व्यापमं के तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी और सिस्टम एनालिस्ट नितिन महिंद्रा के साथ मिलकर गड़बड़ी करते थे। इसमें पैसे लेकर विद्यार्थियों का प्रवेश तय किया जाता था। सागर और भंडारी रैकेटियर थे, जबकि व्यापमं के त्रिवेदी व महिंद्रा सहयोगी। उम्मीदवारों से वसूला पैसा सभी आरोपी आपस में बांटते थे। इसी पैसे से करीब 14 करोड़ की चल-अचल संपत्ति भी जुटाई गई थी। तीन अटैचमेंट आदेशों के जरिए ईडी पहले ही संपत्ति अटैच कर चुका है।

ईडी ने चार्जशीट में बताया कि इस घोटाले का मास्टरमाइंड डॉ. त्रिवेदी था। उन्होंने मोहिंद्रा के साथ व्यापमं के अजय कुमार सेन और सीके मिश्रा को भी अपने साथ मिलाया और छात्रों को मेडिकल परीक्षा में पास कराने के एवज में रुपए लिए। ईडी ने जांच में एक लेन-देन 1.81 करोड़ रुपए का पाया है, जिसमें त्रिवेदी ने 75 लाख रुपए रखे। ईडी ने अभी तीन परीक्षाओं के ही घोटाले की जांच की चार्जशीट पेश की है, लेकिन अभी 10 से ज्यादा व्यापमं परीक्षाओं की जांच अभी भी जारी है। इसमें कई रैकेटियर, कुछ और निजी मेडिकल कॉलेज, कुछ नौकरशाहों पर जांच जारी है, जिसमें आगे पूरक चालान पेश किए जाएंगे और नए आरोपी भी सामने आएंगे। फिलहाल मामले की जांच सीबीआई कर रही है।

Updated : 2018-07-14T20:45:06+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top