Home > देश > नौसेना प्रमुख की नियुक्ति में वरिष्ठता को नजरंदाज किये जाने पर वाइस एडमिरल विमल पहुंचे कोर्ट

नौसेना प्रमुख की नियुक्ति में वरिष्ठता को नजरंदाज किये जाने पर वाइस एडमिरल विमल पहुंचे कोर्ट

नौसेना प्रमुख की नियुक्ति में वरिष्ठता को नजरंदाज किये जाने पर वाइस एडमिरल विमल पहुंचे कोर्ट
X

नई दिल्ली। नौसेना प्रमुख की नियुक्ति में वरिष्ठता को नजरंदाज किये जाने को लेकर विवाद हो गया है और वाइस एडमिरल विमल वर्मा ने इस मामले में सशस्त्र बल न्यायाधिकरण में गुहार लगायी है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने गत 23 मार्च को वाइस एडमिरल कर्मबीर सिंह को नया नौसेना प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा की थी। वह एडमिरल सुनील लांबा का स्थान लेंगे जो 31 मई को सेवानिवृत हो रहे हैं।

वाइस एडमिरल वर्मा के इस नियुक्ति को लेकर अदालत पहुंचने पर तीन साल पहले सेना प्रमुख की नियुक्ति पर हुआ विवाद एक बार फिर ताजा हो गया है। उस समय भी सरकार ने दो वरिष्ठ ले. जनरलों की वरिष्ठता को नजरंदाज कर ले. जनरल बिपिन रावत को सेना प्रमुख नियुक्त किया था।

वाइस एडमिरल वर्मा पूर्व एडमिरल निर्मल वर्मा के भाई हैं। एडमिरल निर्मल वर्मा 2००9 से 2०12 के बीच नौसेना प्रमुख थे। वाइस एडमिरल वर्मा को 1979 में नौसेना में कमीशन मिला था, जबकि वाइस एडमिरल सिंह को 198० में कमीशन मिला था और वह लगभग 6 महीने वरिष्ठ हैं। वाइस एडमिरल सिंह नौसेना की पूर्वी कमान के प्रमुख हैं और वह नौसेना प्रमुख बनने वाले पहले हेलिकॉप्टर पायलट हैं। वाइस एडमिरल वर्मा ने अपनी याचिका में उनसे कनिष्ठ अधिकारी को नौसेना प्रमुख बनाये जाने के कारण के बारे में जानना चाहा है।

Updated : 8 April 2019 2:57 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top