Home > देश > चक्रवात 'फानी' से इंसानी जान बचाने के प्रयासों की संयुक्त राष्ट्र ने की सराहना

चक्रवात 'फानी' से इंसानी जान बचाने के प्रयासों की संयुक्त राष्ट्र ने की सराहना

चक्रवात फानी से इंसानी जान बचाने के प्रयासों की संयुक्त राष्ट्र ने की सराहना
X

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र के आपदा जोखिम न्यूनीकरण(ओडीआरआर) कार्यालय का कहना है कि भारत सरकार की 'शून्य हताहत' की नीति और भारतीय मौसम विभाग(आईएमडी) की सटिक चेतावनी प्रणाली के चलते चक्रवात 'फानी' से होने वाली मौतों को कम करने में मदद मिली है।

संयुक्त राष्ट्र की न्यूज ब्रीफिंग के दौरान ओडीआरआर के प्रवक्ता डेनिस मेकक्लीन का कहना है कि आपदा से मौतों की आशंका को कम करने की दिशा में भारत ने बेहतरीन प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग की सटिक चेतावनी के चलते एक बड़ी योजना तैयार कर 11 लाख लोगों को 900 शेल्टर तक पहुंचाया गया है।

चक्रवात 'फानी' शुक्रवार को ओडिशा के तट से टकराया था। इसकी गति 175 किलोमीटर प्रति घंटा थी। कल से लेकर शनिवार सुबह तक करीब 10 लोगों की मौत की खबर है, जो आपदा को देखते हुए काफी कम है।

मैक्कलीन ने कहा कि 2013 में चक्रवात फेलिन के दौरान भी भीषण तूफान से होने वाली मौतों की संख्या 45 ही थी। भारत ने ऐसे चक्रवातों से निपटने की दिशा में किए प्रयासों को इस बार भी जारी रखा है। चक्रवातों से होने वाली जानलेवा घटनाओं को कम करने की भारत की नीति सही साबित हुई है।

Updated : 4 May 2019 12:58 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top