Top
Home > देश > सुषमा स्वराज के ट्रोल होने से दुखी हुए उनके पति, दिया जवाब

सुषमा स्वराज के ट्रोल होने से दुखी हुए उनके पति, दिया जवाब

स्वराज कौशल ने अपने ट्विट्स में बताया कि कैसे सुषमा स्वराज ने एक बहू के रूप में अपना फर्ज बेहद ईमानदारी से निभाया।

सुषमा स्वराज के ट्रोल होने से दुखी हुए उनके पति, दिया जवाब

नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पति पूर्व राज्यपाल स्वराज कौशल ने आखिरकार सोशल मीडिया पर अपने जीवन की कुछ बेहद निजी बातें शेयर करते हुए लोगों से अपील की कि वे उनकी पत्नी सुषमा स्वराज के खिलाफ शब्दों के चयन को देखें। स्वराज कौशल ने अपने ट्विट्स में बताया कि कैसे सुषमा स्वराज ने एक बहू के रूप में अपना फर्ज बेहद ईमानदारी से निभाया।

रविवार को सोशल मीडिया के माध्यम से पूर्व राज्यपाल कौशल ने लोगों को बताया कि सुषमा स्वराज ने उनकी बीमार मां की अस्पताल में एक साल तक सेवा की थी। तब वे सांसद थीं और पूर्व शिक्षा मंत्री। बावजूद इसके सुषमा ने सास की सेवा के लिए अस्पताल में ही रहने की ठान ली। उन्होंने नौकरों को हटा दिया और खुद अपनी सास की सेवा करती रहीं। अपनी पत्नी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर तन्वी सेठ पासपोर्ट मामले में हो रहे लगातार हमलों से दुखी स्वराज कौशल ने बताया कि सुषमा ने अपने ससुर की चिता को अग्नि दी थी, क्योंकि मेरे पिता चाहते थे कि बेटे की जगह बहू सुषमा स्वराज उनकी चिता को अग्नि दे।

कौशल ने लिखा कि सोशल मीडिया पर जिस तरह से तन्वी सेठ उर्फ सादिया अनस सिद्दिकी मामले में सुषमा स्वराज को लेकर लोग अपना गुस्सा जाहिर कर रहें हैं, उन लोगों को मालूम हो कि अपनी निजी जिंदगी में सुषमा हमेशा परिवार और समाज के लिए समर्पित रहीं। हम दोनों अपने परिवार में राजनीति में आने वाले पहले थे, इसीलिए जो कुछ भी हमने पाया वो हमारा संघर्ष था। सुषमा जैसी महिला के लिए ऐसे शब्द गलत हैं।

दरअसल सोशल मीडिया पर खुद को आईआईटी दिल्ली से पढ़ा बताने वाले किसी मुकेश गुप्ता ने स्वराज कौशल को लिखा कि रात में जब सुषमा स्वराज घर पर आएं, तो वे अपनी पत्नी की खूब पिटाई करें और अपनी पत्नी से कहे कि वो मुसलमानों की तरफदारी करना बंद करें। क्योंकि मुसलमान कभी उन्हें वोट नहीं देंगे। इस पर दुखी हुए स्वराज कौशल ने अपनी बात कही।

कुछ दिन पहले लखनऊ पासपोर्ट कार्यालय में एक महिला तन्वी सेठ उर्फ सादिया अनस सिद्दिकी ने ये कहते हुए हंगामा खड़ा कर दिया और विदेश मंत्री को शिकायत कर दी थी कि उन्हें पासपोर्ट बनवाने के लिए फिर से हिन्दू होने, मंगलसूत्र-सिंदूर धारण करने, अपने पति को मुस्लिम से हिन्दू बनाने के लिए कहा जा रहा है। सुषमा स्वराज ने अधिकारियों को इस मामले को देखने को कहा, जिस पर अधिकारियों ने उस पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा का तुरंत तबादला कर दिया और तन्वी सेठ उर्फ सादिया अनस सिद्दिकी को आनन-फानन में पासपोर्ट जारी कर दिया। जिसके बाद से सोशल मीडिया में इस पूरे मामले को लेकर विदेश मंत्री और उनके अधिकारियों के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। बाद में तन्वी सेठ खुद अपने आरोपों को सही साबित नहीं कर पाई। बताया तो ये भी जाता है कि मुस्लिम लड़के से लव-मैरिज करने वाली तन्वी सेठ ने ये सारा ड्रामा केवल अमेरिका और पश्चिमी देशों का वीजा पाने के लिए किया था। अनस से निकाह करने के लिए मुस्लिम बन चुकी तन्वी सेठ, हिन्दू नाम से ही अपना पासपोर्ट बनवाना चाहती थी।

Updated : 2018-07-03T00:45:13+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top