Top
Home > देश > अब ट्रेन का कोच देगा पटरी टूटने के संकेत

अब ट्रेन का कोच देगा पटरी टूटने के संकेत

रेलवे का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोच कैफियत एक्सप्रेस में लगाया जाएगा

अब ट्रेन का कोच देगा पटरी टूटने के संकेत

नई दिल्ली। मॉडर्न रेल कोच फैक्टरी रायबरेली (एमसीएफ) के इंजीनियरों ने भारतीय रेल का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोच तैयार कर लिया है। इसे 30 अगस्त से कैफियत एक्सप्रेस में लगाया जाएगा। नई दिल्ली में सफदरजंग स्टेशन पर कोच का उद्घाटन किया गया। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस इस कोच में यात्रियों की सुरक्षा के लिए आधुनिक नाइट विजन हाई रिजॉल्यूशन वाले दो सीसीटीवी कैमरे, दरवाजे पर दो एलईडी पैनल, वॉटर लेवल मीटर और आपात बटन लगे हैं। कोच में एचपीए फिल्टर लगाया गया है। यह प्रदूषण के लिए जिम्मेदार माने जाने वाले पीएम 2.5 और पीएम 10 लेवल को नियंत्रित रखेगा। कोच में इंटरनेट एक्सेस के लिए हॉट स्पॉट भी दिया गया है।

पहियों पर आठ सेंसर

यह कोच ट्रैक में पाई जाने वाली खराबी का डेटा रिकार्ड कर उसे क्लाउड पर सेव कर देगा। एमसीएफ के जनरल मैनेजर राजेश अग्रवाल ने बताया कि इस डेटा के आधार पर ट्रैक को रिपेयर किया जा सकेगा। कोच के पहियों पर आठ पावरफुल सेंसर लगाए गए हैं।

साल के अंत तक बनेंगे सौ कोच

उत्तर रेलवे के मुख्य अभियंता अरुण अरोड़ा ने बताया कि फिलहाल इस तरह के दो कोच उत्तर रेलवे को मिले हैं। अगर इसका परीक्षण सही रहा तो इस साल के अंत तक ऐसे ही सौ इंटेलिजेंस कोच का निर्माण होगा। इन्हें राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में लगाया जाएगा।

Updated : 2018-08-30T17:52:56+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top