Top
Home > देश > रेवाड़ी दुष्कर्म मामला : मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दो अब भी फरार

रेवाड़ी दुष्कर्म मामला : मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दो अब भी फरार

रेवाड़ी दुष्कर्म मामला : मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दो अब भी फरार

चंडीगढ़/स्वदेश वेब डेस्क। रेवाड़ी में सीबीएसई की टॉपर एवं राष्ट्रपति अवार्डी छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा डीजीपी से रिपोर्ट तलब करने के बाद रविवार रात्रि पुलिस ने तीन मुख्य आरोपितों में से एक नीशू को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले पुलिस ने कोठरे के मालिक दीनदयाल व इलाज करने वाले डॉक्टर संजीव को गिरफ्तार किया था।

एसआईटी प्रमुख एवं मेवात पुलिस अधीक्षक नाजनीन भसीन ने नाहड़ रेस्ट हाउस में पत्रकारवार्ता करते हुए बताया कि तीन आरोपितों में से एक युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़ा गया आरोपी 12 सितंबर को हुई इस गैंगरेप की वारदात में शामिल था। कनीना बस स्टैंड से किडनैप करने से लेकर उसके साथ गैंगरेप में भी शामिल रहा। उसके बाद वह फरार हो गया। पीड़िता ने उक्त आरोपी का नाम एफआईआर में नामजद कराया था। पुलिस की अलग-अलग टीमें आरोपियों को पकड़ने में लगी हुई थीं। रविवार को पुलिस को एक आरोपी के बारे में जानकारी मिली। उसके बाद उक्त तीनों ही टीम के इंचार्ज ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए वारदात के मुख्यारोपितों में शामिल एक आरोपी को धर दबोचा। गिरफ्तारी की सूचना तुरंत आला आॅफिसरों को दी गई। उसके बाद आरोपी को नाहड़ रेस्ट हाउस लाया गया।

एसआईटी प्रमुख ने बताया कि आरोपित को सोमवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। इसके अलावा अन्य आरोपितों के बारे में भी पूछताछ की जाएगी। एसआईटी प्रमुख ने अन्य आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीमें लगातार दबिश दे रही है, जल्द ही उन्हें भी काबू कर लिया जाएगा।

आरएमपी डॉक्टर जघन्य अपराध की सूचना नहीं देने पर काबू

एसआईटी प्रमुख ने इस वारदात से संबंधित ओर जानकारी देते हुए बताया कि हमारी टीम ने एक आरएमपी डॉक्टर को भी काबू किया है। उसकी पहचान लूखी निवासी संजीव कुमार के रूप में हुई है। संजीव पर जघन्य अपराध की सूचना पुलिस को नहीं देने का आरोप है। उसे भी सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा-118 के तहत केस दर्ज कर किया गया है।

डीजीपी को मुख्यमंत्री ने लगाई थी फटकार

इससे पहले, रविवार सुबह मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पुलिस महानिदेशक को तलब करके फटकार लगाते हुए मामले की रिपोर्ट मांगी थी। मुख्यमंत्री पंजाब के कार्यक्रमों को छोड़कर चंडीगढ़ पहुंचे थे। चंडीगढ़ पहुंचकर मुख्यमंत्री ने पुलिस के आलािधिकारियों को फटकार लगाते हुए मामले में जल्द कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री ने रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल का तबादला कर दिया था। उनकी जगह राहुल शर्मा को पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया गया था। इससे पहले वे पुलिस अधीक्षक सुरक्षा में कार्यरत थे।

Updated : 2018-09-17T06:35:13+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top