Home > देश > 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' की गवाह बनी गोरखनाथ की धरती, पीएम ने की शुरुआत

'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' की गवाह बनी गोरखनाथ की धरती, पीएम ने की शुरुआत

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की गवाह बनी गोरखनाथ की धरती, पीएम ने की शुरुआत
X

गोरखपुर। फर्टिलाइजर मैदान में रविवार को भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन में प्रधानमंत्री ने किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की। नाथ सम्प्रदाय के गुरु गोरक्षनाथ की धरती से किसानों के घाटे को कम करने और उन्हें खेती के समय आने वाली धन की दिक्कत को दूर करने की कोशिश को परवान चढ़ाया।

किसानों को तीन किश्तों में मिलने वाली इस धनराशि से खरीफ, जायद और रबी की खेती के समय किसानों को धन की कमी न आने से राहत मिलेगी। इस दौरान विभिन्न प्रदेशों के किसानों को किसान सम्मान निधि योजना प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के शुभारंभ होने से किसानों को सालाना 06 हजार रुपये मिलेंगे। यह धनराशि तीन किश्तों में किसानों के खाते में भेजा जाएगा। ये किश्तें 02-02 हजार रुपये की होंगी। प्रधानमंत्री द्वारा योजना की डिजिटली शुरुआत करने के साथ ही किसानों को पहली किश्त के रूप में दो-दो हजार रुपये मिलने का रास्ता साफ हो गया। इस योजना से उत्तर प्रदेश के 01 करोड़ 01 लाख 06 हजार 880 किसानों के खाते में 02 हजार 21 करोड़ रुपये का लाभ मिला। बात दें देश के किसानों पर इस योजना के तहत 75 हजार करोड़ रुपये प्रति वर्ष खर्च किया जाएगा।

इन्हें मिला प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना प्रमाण पत्र

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना प्रमाण पत्र पाने वालों में उत्तर प्रदेश के रामनिवास, मैंना देवी, मेवाती देवी, झारखंड से जितेंद्र कुशवाहा, हरियाणा से सुरेश भाई, बलराज, तमिलनाडु से टी. राजेंद्रन और त्रिपुरा से केशव गौड़ शामिल रहे।

लोकसभा चुनाव के ऐलान के ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर क्षेत्र को दस हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की दी। पीएम किसान रैली के पहले गोरखपुर के चिर-प्रतिक्षित एम्स की ओपीडी का भी शुभारंभ किया। जोधपुर के डाॅक्टर्स गोरखपुर एम्स में अब ओपीडी लगाएंगे।

रविवार को अन्य परियोजनाओं के साथ बस्ती और गोरखपुर में एक-एक चीनी मिलों का भी लोकार्पण भी किया। इतना ही नहीं, पूर्वांचल के किसानों को साधा भी। प्रधानमंत्री ने इस दौरान 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया।

पिपराइच व मुंडेरवा को मिला चीनी मिल की सौगात

प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर के पिपराइच चीनी मिल और बस्ती के मुंडेरवा चीनी मिल का शुभारंभ किया। गोरखपुर एम्स की ओपीडी और बीआरडी मेडिकल काॅलेज के सुपर स्पेशिएलिटी हास्पिटल का भी शुभारंभ किया। गोरखपुर एम्स की ओपीडी में अब जोधपुर एम्स से आई डाॅक्टरों की टीम अपना काम शुरू करेगी।

इन परियोजनाओं का हुआ लोकार्पण

- गोरखपुर में एम्स की ओपीडी का शुभारंभ

- बीआरडी मेडिकल काॅलेज में सुपर स्पेशिएलिटी हास्पिटल बिल्डिंग का लोकार्पण

- बीआरडी मेडिकल काॅलेज में पीजी मैरिड छात्रावास का लोकार्पण

- बीआरडी मेडिकल काॅलेज में 100 बेड का पीजी गर्ल्स छात्रावास

- गोरखपुर में 200 बंदियों की क्षमता वाले बैरक का निर्माण

- गोरखनाथ मंदिर में लाइट एंड साउंड शो का लोकार्पण

-मुंडरेवा चीनी मिल

-पिपराइच चीनी मिल

किया शिलान्यास

- प्रधानमंत्री ने रविवार को 04 हजार 816 करोड़ की लागत वाले गोरखपुर-आजमगढ लिंक एक्सप्रेसवे और 03 हजार 100 करोड़ की लागत से गोरखपुर-कांडला गैस पाइपलाइन

- गोरखपुर में मोहद्दीपुर से जंगल कौड़िया फोरलेन

-गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेसवे

-गोरखपुर-कांडला एलपीजी पाइपलाइन

-पूर्वाेत्तर रेलवे के इलेक्ट्रिक लोकोशेड का निर्माण

-पूर्वाेत्तर रेलवे के बाल्मिकीनगर खंड का विद्युतीकरण

-मोहद्दीपुर-जंगलकौड़िया फोरलेन का निर्माण

-गोरखनाथ मंदिर में विभिन्न विकास कार्य

-गोरखनाथ मंदिर में संग्रहालय के निर्माण का शुभारंभ

- मानसरोवर ताल व रामलीला मैदान का जीर्णाेद्धार

Updated : 2019-02-24T14:49:23+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top