Home > देश > पीएम मोदी ने कहा - स्वदेशी और स्थानीय स्तर पर बनी वस्तुओं को दें तरजीह

पीएम मोदी ने कहा - स्वदेशी और स्थानीय स्तर पर बनी वस्तुओं को दें तरजीह

पीएम मोदी ने कहा - स्वदेशी और स्थानीय स्तर पर बनी वस्तुओं को दें तरजीह
X

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने व्यापार और कारोबार में सुगमता की दृष्टि से भारत की लगातार प्रगति पर खुशी जाहित करते हुए देशवासियों का आह्वान किया कि वह स्वदेशी और स्थानीय स्तर पर बनी वस्तुओं की खरीद को तरजीह दें।

मोदी ने अपने लोकसभा क्षेत्र वाराणसी के कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए संवाद करते हुए कहा कि कारोबार में सहूलियत के लिहाज से भारत की यह लम्बी छलांग है। विश्व वैंक के इतिहास में यह पहली बार है कि किसी देश ने लगातार तीसरी बार अपनी स्थिति में ऐसा सुधार किया है।

प्रधानमंत्री ने देशवासियों से आग्रह किया कि वे स्थानीय स्तर पर निर्मित वस्तुओं की खरीद को प्राथमिकता दें। उन्होंने लोगों से कहा कि दिवाली के पर्व पर हम सबका यह प्रयास होना चाहिए कि कपड़ों की खरीद के समय कम से कम हेंडलुम (हथकर्घे) से बना कोई कपड़ा अवश्य खरीदें। इससे बुनकर और गरीब के घर भी रोशनी का दिया जलेगा।

मोदी ने स्वदेशी, स्वभाषा और स्वालंबन का नारा दोहराते हुए कहा कि हमें सबसे पहले अपने क्षेत्र में निर्मित चीजों को खरीदना चाहिए। आसपास में उपलब्ध न हो तो ब्लॉक में, जिले में, फिर राज्य में और फिर देश में निर्मित चीजों को क्रमशः प्राथमिकता देनी चाहिए। हमारा प्रयास होना चाहिए कि कम से कम एक चीज ऐसी हो जो स्थानीय स्तर पर निर्मित हो।

मोदी ने इस वर्ष महात्मा गांधी की 150वीं जयंती और वर्ष 2022 में देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारे पास दो-तीन साल का समय है कि हम स्वदेशी और स्वावलंबन के राष्ट्रीय आदर्शों को चरितार्थ कर सकें।

प्रधानमंत्री ने अपनी विदेश यात्राओं के दौरान उन्हें मिले सम्मान और समर्थन के बारे में कहा क वह तो एक निमित्त हैं, वास्तव में यह सम्मान देश के 130 करोड़ लोगों का है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आहवान किया कि वे गांव-गांव तक लोगों तक यह जानकारी पहुंचायें की किस प्रकार दुनिया में भारत की छवि उजागर रही है और देश की शाख बढ़ रही है।

कार्यकर्ताओं ने मोदी को महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा के चुनावों में भाजपा की सफलता की बधाई दी। मोदी ने स्वयं अपनी ओर से चुनाव परिणामों पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की। मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र के पांचों विधानसभा क्षेत्रों नगर दक्षिणी, नगर उत्तरी, कैंट, सेवापुरी और रोहिनिया के कार्यकर्ताओं के साथ संवाद किया।

प्लास्टिक के कारण बढ़ते संकट का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि कहा कि हमें विशेष तौर पर काम कर 'सिंगल यूज प्लास्टिक' को खत्म करने का अभियान चलाना चाहिए। हाल ही में एक सज्जन ने एक गारबेज रेस्तरां खोला है, जहां एक व्यक्ति भोजन के लिए प्लास्टिक में भुगतान कर सकता है। उन्होंने कहा कि हमारी आंख में एक तिनका भी पड़ जाये तो बहुत दर्द होता है। वहीं पशुओं के पेट से प्लास्टिक कचरा निकल रहा है उन्हें कितना दर्द होता होगा लेकिन अब देश ने ठान लिया है, देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त बनाना है।

मोदी ने कहा कि इस बार हमें दिवाली पर 'भारत की लक्ष्मी' को सम्मानित करना चाहिए। अपने आसपास हमारे इलाके में कोई न कोई ऐसी बेटी होगी जिसने अच्छा काम किया होगा। हमें उसका सम्मान करना चाहिए।

इस दौरान अपने संसदीय क्षेत्र स्थित काशी विश्वनाथ का जिक्र करते हुए कहा कि वैसे तो काशी की गलियां वहां की आन-बान-शान हैं लेकिन इससे बाबा भोलेनाथ के दर्शन में परेशानी होती थी। मां गंगा के दर्शन में परेशानी होती थी। काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर जिसके लिए जनता ने अपने पुश्तैनी मकानों को छोड़ दिया यात्रियों और श्रद्धालुओं को सुगमता दे रहा है।

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार की ढेर सारी योजनाओं का लाभ लोगों को मिला है और मिल भी रहा है। पिछले 70 साल में जो लोगों को मिलना था, उसे वह अपने ही कार्यकाल में पूरा करने का प्रयास कर रहे है। लोगों को अनुभव कराना है कि देश आजाद हुआ है मतलब उनके भाग्य खुल गए हैं।

Updated : 24 Oct 2019 4:12 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top