Top
Home > देश > शिक्षा के क्षेत्र में बेटियों का आगे आना सुनहरे भारत की तस्वीर : राष्ट्रपति

शिक्षा के क्षेत्र में बेटियों का आगे आना सुनहरे भारत की तस्वीर : राष्ट्रपति

शिक्षा के क्षेत्र में बेटियों का आगे आना सुनहरे भारत की तस्वीर : राष्ट्रपति

बिलासपुर (छत्तीसगढ़)। गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में सोमवार को 8वें दीक्षांत समारोह की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दीप प्रज्वलित कर की। सुबह 11 बजे राष्ट्रपति छत्तीसगढ़ भवन से निकलकर सीधे यूनिवर्सिटी कैंपस पहुंचे।

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के अष्टम दीक्षांत समारोह में शामिल होने का अवसर मिलना मेरे लिए प्रसन्न्ता के साथ ही गर्व की बात है। आज छह बेटियों को स्वर्ण पदक से नवाजा गया है। बेटियों को सात स्वर्ण पदक मिले हैं क्योंकि इसमें से एक बेटी को दो पदक मिले हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में बेटियों का आगे आना सुनहरे भारत की तस्वीर है। सफलता के पीछे माता-पिता के संकल्प के साथ ही शिक्षकों का मार्गदर्शन होता है। इससे बढ़कर अपना खुद का संकल्प और आगे बढ़ने की दृढ़ इच्छाशक्ति भी अहम है। उन्होंने कहा कि सतनाम पंत के संस्थापक गुरुघासीदास जी के नाम से संचालित विवि में आकर प्रसन्नता हो रही है।

दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति के हाथों 9 मेडल प्राप्त करने वालों में 6 लड़कियां और 3 लड़के हैं। दीक्षांत समारोह में 74 गोल्ड मेडलिस्ट, 75 पीएचडी उपाधि और अन्य को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर राज्यपाल अनुसुइया उइके, प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कुलाधिपति अशोक मोडक, कुलपति प्रोफेसर अंजना गुप्ता, कुलसचिव शैलेंद्र कुमार और अन्य मौजूद रहे। इस आयोजन में शामिल होने पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मुख्यमंत्री और प्रशासनिक अधिकारियों की सराहना करते हुए रेस्ट हाउस की विजिटर डायरी में लिखा कि बिलासपुर में ठहरने का अनुभव सुखद रहा और छत्तीसगढ़ राज्य सरकार और इससे जुड़े सभी लोगों के सेवा भाव को सरकार की सराहना करता हूं।

Updated : 2 March 2020 3:54 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top