Top
Home > देश > एक साल में रेल दुर्घटनाओं के ग्राफ में लगा अंकुश

एक साल में रेल दुर्घटनाओं के ग्राफ में लगा अंकुश

एक साल में रेल दुर्घटनाओं के ग्राफ में लगा अंकुश

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। रेलवे को पूरी तरह दुर्घटना रहित बनाने के लिए उठाए गए कदमों के चलते पिछले एक साल में गंभीर रेल दुर्घटनाओं पर काफी हद तक अंकुश लगा है। इससे हादसों में मृतकों और घायलों की संख्या में भी काफी कमी दर्ज की गई है।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने रेलवे सुरक्षा की समीक्षा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बोर्ड के सभी सदस्यों, जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों और कोंकण रेलवे के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक के साथ बैठक की। उन्होंने इस दौरान प्रदर्शन पर संतुष्टि जताते हुए कहा कि सुरक्षा पर इससे संबंधित बुनियादी ढांचे में वृद्धि पर लगातार ध्यान केंद्रित करने का परिणाम है कि एक सितम्बर, 2017 से 31 अगस्त, 2018 की अवधि में भारतीय रेलवे के सुरक्षा प्रदर्शन में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। पिछले साल जहां 12 महीने में 80 रेल दुर्घटनाएं हुई थीं वहीं इस साल यह आंकड़ा घटकर 75 रह गया है। उन्होंने कहा कि गंभीर रेल दुर्घटनाओं की संख्या में भी काफी कमी आई है, इससे हादसों में मृतकों का आंकड़ा 249 से घटकर 40 और घायलों का 513 से कम होकर 57 हो गया है।

लोहानी ने बेहतर प्रदर्शन के लिए जोनल रेलवे की सराहना करते हुए कहा कि भारतीय रेलवे की प्राथमिकता 'सुरक्षा' है। उन्होंने क्षेत्रीय रेलवे को सुरक्षा के सभी मानकों को पूरा करने के लिए एक केंद्रित दृष्टिकोण बनाए रखने और ट्रैक नवीनीकरण, व्यस्त वर्गों की दोहरीकरण करने, मौजूदा लाइनों पर दबाव कम करने और विस्तृत करने के लिए नई लाइनें बिछाने के लिए एक केंद्रित दृष्टिकोण को पूरा करके प्रदर्शन में सुधार करने के निर्देश दिए।

Updated : 2018-10-01T03:21:55+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top