Home > देश > अयोध्या आंदोलन में सही साबित हुई मेरी भूमिका : लालकृष्ण आडवाणी

अयोध्या आंदोलन में सही साबित हुई मेरी भूमिका : लालकृष्ण आडवाणी

अयोध्या आंदोलन में सही साबित हुई मेरी भूमिका : लालकृष्ण आडवाणी
X

नई दिल्ली। अयोध्या आंदोलन के नायक रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के सर्वसम्मत फैसले से राम मंदिर निर्माण आंदोलन में उनकी भूमिका सही साबित हुई है।

आडवाणी ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद शनिवार शाम अपने बयान में कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने वाला सुप्रीम कोर्ट का सर्वसम्मत फैसला ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा 'मैं सही साबित हुआ। खुद को धन्य महसूस कर रहा हूं।' वर्ष 1990 के दशक में रथयात्रा और अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से आडवाणी ने अयोध्या आंदोलन का नेतृत्व किया था।

भाजपा नेता ने राम जन्मभूमि आंदोलन को देश के स्वतंत्रता आंदोलन के बाद का सबसे बड़ा जनांदोलन करार देते हुए कहा कि यह उनके लिए सौभाग्य की बात है कि उन्हें इसमें अपना विनम्र योगदान करने का मौका मिला। आंदोलन का लक्ष्य राम मंदिर निर्माण था, जो आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले से संभव हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि उनका हमेशा यह मानना था कि भारत की संस्कृति और सभ्यता में राम और रामायण को आदर का स्थान प्राप्त है। देश विदेश में फैले करोड़ों भारतीयों के दिल में राम जन्मभूमि के लिए विशेष स्थान है। यह बहुत संतोष की बात है कि लोगों की आस्था और भावनाओं का सम्मान किया गया। उन्होंने अयोध्या में किसी प्रमुख स्थान पर मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ भूमि देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का भी स्वागत किया।

आडवाणी ने कहा कि अब जबकि दशकों तक चले मंदिर-मस्जिद विवाद का समापन हो गया है यह समय है कि सभी वाद-विवाद और वैमनस्यता को भूलकर सांप्रदायिक सौहार्द और शांति को स्वीकार किया जाए। सभी देशवासियों से उन्होंने अपील की कि वे देश की एकता और अखंडता को मजबूत बनाने के लिए मिलकर काम करें।

आडवाणी ने कहा कि राम जन्मभूमि आंदोलन के समय वह अक्सर कहते थे कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का वास्तविक उद्देश्य एक भव्य राष्ट्र मंदिर निर्माण का है। ऐसा भारत जो मजबूत और समृद्ध हो तथा शांति और सौहार्द के साथ रहे। ऐसे राष्ट्र मंदिर में सभी के साथ न्याय हो और किसी भी तबके को अलग-थलग न छोड़ा जाए। आज इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए स्वयं को समर्पित करने का दिन है।

Updated : 2019-11-09T22:08:05+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top