Top
Home > देश > ममता ने सोनिया-राहुल से की मुलाकात, पीएम उम्मीदवार पर चर्चा नहीं

ममता ने सोनिया-राहुल से की मुलाकात, पीएम उम्मीदवार पर चर्चा नहीं

ममता ने सोनिया-राहुल से की मुलाकात, पीएम उम्मीदवार पर चर्चा नहीं
X

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने और विपक्षी दलों को साधने की तैयारी में जुटी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष ममता ममता बनर्जी ने बुधवार शाम संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। खास बात ये रही कि इस मुलाकात से ठीक पहले ममता ने ये साफ कर दिया कि वह प्रधानमंत्री उम्मीदवार पर चर्चा करने नहीं जा रहीं।

ममता बनर्जी ने दस जनपथ जाकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात से पहले कहा कि उनकी प्राथमिकता केंद्र में भाजपा सरकार को हटाना है और इसके लिए विपक्ष को एक साथ आना चाहिए।

ममता ने कहा, 'मैं कोई नहीं हूं। मैं बहुत सामान्य कार्यकर्ता हूं। मुझे एक आम आदमी रहने दीजिए। मैं चाहती हूं कि इस सरकार, भाजपा सरकार को अवश्य ही जाना चाहिए। वे लोग के साथ अधिकतम राजनीतिक प्रतिशोध और अत्याचार कर रहे हैं। इसलिए हम चाहते हैं कि सभी को संगठित होना चाहिए। चलिए, साथ मिलकर काम करते हैं। प्रधानमंत्री उम्मीदवार के बारे में मत सोचिए। देश के बारे में सोचिए।'

सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात के बाद टीएमसी अध्यक्ष ममता ने कहा, 'हमने मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति पर चर्चा की और आगामी चुनावों में सभी के साथ लड़ने को लेकर बात हुई। हमने असम राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर भी बात की।'

दरअसल एनआरसी मुद्दे पर ममता के बयान से तृणमूल और कांग्रेस में टकराव की स्थिति आ गई है। ममता बनर्जी ने एनआरसी मुद्दे पर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए मंगलवार को कहा था, 'अगर ऐसा ही चलता रहा तो देश में गृहयुद्ध की स्थिति हो सकती है।' हालांकि कांग्रेस भी एनआरसी के मुद्दे पर केंद्र का विरोध कर रही है लेकिन सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ममता के इस बयान से खासी नाराज है। क्योंकि कांग्रेस एनआरसी पर शांति से तथ्यों पर विरोध दर्ज कराना चाहती है।

कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद ममता ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि मैंने गृह युद्ध की बात नहीं कही। मैंने कहा कि अगर भाजपा ऐसे काम करेगी तो क्या वो सिविल वॉर चाहती है।'

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस पहले ही ये संकेत दे चुकी है कि भाजपा को रोकने के लिए पार्टी किसी भी दल के नेता को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाये जाने का समर्थन कर सकती है। कांग्रेस ने ये संकेत राहुल गांधी के नेतृत्व के साथ ममता बनर्जी और मायावती के नाम को लेकर दिये थे।

Updated : 2018-08-03T00:31:22+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top