Top
Home > देश > लिंचिंग : सबूतों की कमी के चलते बिहार पुलिस ने 49 हस्तियों से हटाया देशद्रोह का मुकदमा

लिंचिंग : सबूतों की कमी के चलते बिहार पुलिस ने 49 हस्तियों से हटाया देशद्रोह का मुकदमा

लिंचिंग : सबूतों की कमी के चलते बिहार पुलिस ने 49 हस्तियों से हटाया देशद्रोह का मुकदमा

दिल्ली। बिहार पुलिस ने बुधवार को आदेश दिए कि वे उन 49 प्रख्यात हस्तियों और बुद्धिजीवियों के ऊपर लगाए गए देशद्रोह के मुकदमे के केस को बंद करे, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को खत लिखकर मॉब लिंचिंग रोकने के लिए दखल देने की मांग की थी।

मुजफ्फरपुर एसएसपी मनोज कुमार सिन्हा ने कहा कि जांच में यह पता चलने के बाद कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप गलत इरादे से है और सबूतों की कमी है, उसके बाद इस केस को बंद करने का आदेश दे दिया गया है।

इससे पहले, कोर्ट के आदेश पर 49 फिल्मी हस्तियों पर एफआईआर दर्ज करने के बाद सदर पुलिस ने गवाहों का बयान दर्ज किया गया। शिकायतकर्ता अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा का भी बयान एसएसपी मनोज कुमार के समक्ष दर्ज किया गया। हालांकि, इस संदर्भ में कोई ठोस जानकारी नहीं दी गई।

मंगलवार को इस केस के शिकायकर्ता का बयान मुजफ्फरपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक के गोपनीय कार्यालय में हुई। एसएसपी के सवालों का जवाब शिकायतकर्ता ने दिया। साथ ही सबूत सौंपे। इससे पहले सोमवार को तीन गवाहों का बयान दर्ज किया गया था।

एसएसपी ने बताया कि जांच प्रक्रिया के तहत शिकायतकर्ता का बयान दर्ज किया गया है। बीते 02 सितंबर 2019 को सदर थाने में फिल्मी हस्ती अपर्णा सेन, एएजी कृष्ण, शुभा मुदगल, सौमित्र चटर्जी, रेवती, कोंकणा सेन, श्याम बेनेगल, मणिरत्णम समेत 49 पर एफआईआर दर्ज की गई थी। इनपर देश का नाम बदनाम करने की मंशा से पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखने का आरोप है।

Updated : 9 Oct 2019 3:39 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top