Top
Home > देश > पुलवामा में हुए आतंकी हमले की देशभर के नेताओं ने की निंदा

पुलवामा में हुए आतंकी हमले की देशभर के नेताओं ने की निंदा

पुलवामा में हुए आतंकी हमले की देशभर के नेताओं ने की निंदा
X

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की देशभर के बड़े नेताओं ने कड़े शब्दों में निंदा की है। इसे कायरतापूर्ण हमला बताते हुए मृतक जवानों के प्रति श्रद्धांजली अर्पित की है। उपराष्ट्रपति ने विश्व समुदाय के नेताओं से आंतकियों को संरक्षण देने वाले देशों को अलग-थलग करने को कहा है। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस संबंध में गृहमंत्री और शीर्श अधिकारियों से बातचीत की है।

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि दुख की इस घड़ी में सारा देश शहीद जवानों के परिजनों के साथ है। ईश्वर परिजनों को दुख से निपटने के लिए धैर्य दे और घायल जवानों को शीघ्र स्वस्थ करे। विश्व समुदाय सीमापार आतंकवाद को सामरिक रणनीति के रूप में समर्थन देने वाले राष्ट्रों को पहचाने और उन्हें अलग थलग करे। प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों के सरगना को प्रश्रय देने वाले राष्ट्रों को चिन्हित किया जाए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमला घटिया हरकत है। वह इस नृशंस हमले की कड़ी निंदा करते हैं। हमारे बहादुर सुरक्षाकर्मियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पूरा देश बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना कर रहा है। हमले के मद्देनजर उन्होंने स्थिति को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अन्य शीर्ष अधिकारियों से बातचीत की है।

इसी बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल पुलवामा हमले की स्थिति पर निगरानी रखे हुए हैं। सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी उन्हें स्थिति पर जानकारी दे रहे हैं।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने पुलवामा में आज हुए कायराना आतंकी हमले में हमारे शहीद बहादुर सैनिकों को नमन किया और अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी। शोक संतप्त परिवारों के साथ संवेदनाएं। देश हर नागरिक एक-एक सैनिक के साथ खड़ा है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पुलवामा में हमारे सैनिकों पर हुए आतंकी हमला बयान करने लायक नहीं है। यह कायरतापूर्ण कार्य है। उनकी गहरी संवेदना सैनिकों के परिवारों के साथ है, जिन्होंने अपनी जान गंवाई है। हमारी सेनाएं आतंकी हमलों के खिलाफ दृढ़ता से खड़ी रहेगी और उन्हें हराएगी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वह जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर कायरतापूर्ण हमले से बहुत दुखी हैं। इसमें हमारे कई बहादुर सीआरपीएफ जवान शहीद हुए हैं और बड़ी संख्या में घायल हुए हैं। शहीदों के परिवारों के प्रति उनकी संवेदना है। वह घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करते हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि वह शहीद परिवारों की वेदना अच्छी तरह समझती हैं। वह जानती हैं कि इस शोक की घड़ी में सांत्वना के शब्द पर्याप्त नहीं होते, फिर भी शहीद परिवार के पीछे न केवल कांग्रेस बल्कि पूरा देश खड़ा है। जम्मू कश्मीर में आए दिन हमारे जवान शहीद हो रहे हैं, जो गहरी चिंता का विषय है। वह सरकार से मांग करती हैं कि इन घटनाओं को रोकने के लिए कठोर कदम उठाए जाएं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी ने कहा है कि दुख की बात है कि पुलवामा में आज सीआरपीएफ के 13 जवान शहीद हो गए। हम अपने बहादुर जवानों को सलाम करते हैं और उनके परिवारों के प्रति अपनी एकजुटता और संवेदना का विस्तार करते हैं। घायल लोगों के लिए हमारी प्रार्थना। हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।

समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में जिस प्रकार हालात बेक़ाबू हो रहे हैं, उससे पूरे देश में आक्रोश जन्म ले रहा है। भाजपा सरकार को चुनावी राजनीति छोड़कर देशहित में सक्रिय होना चाहिए।

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्षा मायवाती ने हमले को अति दुखद व अति-निन्दनीय व गंभीर चिन्ता का विषय बताया है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में अमन बहाल हो तथा वह स्वर्ग बना रहे इसकी कामना व ईमानदार प्रयास दोनों ही जारी रखने की सख्त जरूरत है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने घटना पर दुख जताते हुए इस घड़ी में एकजुट होने पर बल दिया है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शासनकाल में दूसरे सबसे बड़े आतंकी हमले में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने विस्फोटक से भरे वाहन को सीआरपीएफ कर्मियों की बस से टकरा दिया।

Updated : 14 Feb 2019 2:51 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top