Home > देश > राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाक की कायराना हरकत, सीजफायर उल्लंघन में भारतीय जवान शहीद

राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाक की कायराना हरकत, सीजफायर उल्लंघन में भारतीय जवान शहीद

राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाक की कायराना हरकत, सीजफायर उल्लंघन में भारतीय जवान शहीद
X

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान शनिवार सुबह से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार राजौरी के नौशेरा सेक्टर में शनिवार सुबह 6:30 बजे पाकिस्तान संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इस गोलीबारी में भारतीय सेना के लांस नायक संदीप थापा शहीद हो गए हैं। पाकिस्तान की ओर से फायरिंग जारी है जिसका भारतीय सेना डटकर मुकाबला कर रही है।

पाकिस्तान ने शनिवार को एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास अग्रिम चौकियों और गांवों में मोर्टार दागे और छोटे हथियारों से गोलीबारी की। रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि गोलीबारी नौशेरा सेक्टर में सुबह साढ़े छह बजे के आसपास की गई। सीमा पर तैनात भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया। अधिकारी ने बताया कि आखिरी रिपोर्ट मिलने तक दोनों तरफ से गोलीबारी जारी थी। प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से बिना उकसावे की गई गोलीबारी में अभी किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। गौरतलब है कि जम्मू के राजौरी और पुंछ जिलों में पिछले सप्ताह पाकिस्तान की ओर से की गई गोलाबारी और गोलीबारी में 10 महीने के एक बच्चे की जान चली गई थी और कई नागरिक घायल हुए थे। भारत ने शुक्रवार को पाकिस्तान को बातचीत शुरू करने के लिए स्पष्ट संदेश देते हुए कहा कि बातचीत शुरू करने के लिए उसे पहले जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद और हिंसा के समर्थन वाली नीति को तुरंत रोकना होगा।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा," बातचीत शुरू करने के लिए पाकिस्तान को पहले आतंकवाद रोकना चाहिए।" उन्होंने कहा कि कोई भी लोकतांत्रिक देश आतंकवाद के समर्थन वाली नीति को स्वीकार नहीं करेगा। उन्होंने पाकिस्तान को कठघड़े में खड़ा करते हुए कहा, " हम शिमला समझौते पर प्रतिबद्ध है और हम उम्मीद करते है कि पाकिस्तान को भी ऐसा ही करना चाहिए।" अकबरूद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान की हरकतों से लगता है कि वह समझौते के प्रति प्रतिबद्ध नहीं है।

Updated : 2019-08-18T20:03:43+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top