Top
Home > देश > ट्रेन विलम्ब से आने पर एसएमएस भेजेगा रेलवे

ट्रेन विलम्ब से आने पर एसएमएस भेजेगा रेलवे

सर्दी में पड़ने वाले कोहरे को देखते हुए रेलवे ने बनाई योजना

ट्रेन विलम्ब से आने पर एसएमएस भेजेगा रेलवे

ग्वालियर। सर्दी का मौसम शुरू होते ही यात्रियों को एक ही बात की चिंता सताती है कि कहीं अगर उनकी ट्रेन लेट हुई तो स्टेशन पर बैठकर ट्रेन का इंतजार करना पड़ेगा, लेकिन यात्रियों की चिंता को देखते हुए रेलवे व आईआरसीटीसी ने मिलकर एक योजना तैयार की है, जिसे पहले चरण में शताब्दी व राजधानी जैसी कुछ ट्रेनों में लागू किया जाएगा, जिससे यात्रियों को ऐसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। आईआरसीटीसी के संदीप दत्ता ने बताया कि अगर ट्रेन तीन घंटे से अधिक लेट होती है तो रेलवे यात्रियों को मैसेज कर ट्रेन लेट होने की जानकारी भेजेगा। अभी यात्रियों की सुविधा को देखते हुए यह सेवा फिलहाल राजधानी व शताब्दी समेत 50 ट्रेनों में शुरू कर दी गई है। चिन्हित की गईं वीआईपी ट्रेनों के यात्रियों को रेलवे मैसेज के माध्यम से ट्रेन के लेट होने की जानकारी भेजेगा, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

यात्रियों को आरक्षण फार्म पर भरना होगा सही नम्बर

इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए यात्रियों को आरक्षण कराते समय सही नम्बर भरना होगा, जिससे रेलवे ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को उसी नम्बर पर मैसेज भेज सकेगा। ज्ञात रहे कि अभी तक रेलवे द्वारा यात्रियों को सीट कन्फर्म का मैसेज भेजा जाता था, जिसमें सीट व कोच की जानकारी रहती थी। सूत्रों की मानें तो अगर यह प्रयोग सफल रहता है तो जल्द ही अन्य ट्रेनों में भी यह व्यवस्था शुरू की जाएगी।

कोहरे में कम हो जाती है ट्रेनों की गति

सर्दी का मौसम शुरू होते ही ट्रेनों की चाल रेलवे द्वारा तय कर दी जाती है, लेकिन कई राज्यों में घना कोहरा होने के कारण ट्रेनें अपने निर्धारित समय से 5 से 10 घंटे की देरी से पहुंचती हैं, जिसके चलते यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है, लेकिन रेलवे द्वारा शुरू होने वाली इस सुविधा से यात्रियों को कुछ हद तक राहत मिलेगी।

इनका कहना है

ठंड में कोहरे से अगर ट्रेन प्रभावित होती है तो रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार यात्रियों को एसएमएस द्वारा सूचना दी जाएगी। अभी यह सुविधा कुछ ही ट्रेनों में शुरू की जा रही है।

मनोज कुमार सिंह

जनसंपर्क अधिकारी, झांसी

Updated : 2018-11-20T21:10:05+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top