Home > देश > चीन के कश्मीर का जिक्र करने पर भारत ने जताई आपत्ति

चीन के कश्मीर का जिक्र करने पर भारत ने जताई आपत्ति

चीन के कश्मीर का जिक्र करने पर भारत ने जताई आपत्ति
X

नई दिल्ली। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में चीन की ओर से दिए बयान में जम्मू-कश्मीर का जिक्र किए जाने पर आपत्ती जताई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि चीन इस स्थिति से अच्छी तरह अवगत है कि जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग है और हालिया घटनाक्रम पूरी तरह से भारत का आंतरिक विषय है।

चीन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने सम्बोधन में जम्मू कश्मीर का उल्लेख करते हुए कहा था कि इस क्षेत्र में एकतरफा तरीके से यथास्थिति में कोई बदलाब नहीं किया जाना चाहिए। कश्मीर मुद्दा उठाते हुए चीन के विदेशमंत्री वांग यी ने कहा था कि 'विवाद' को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों के अनुसार शांतिपूर्वक और उचित ढंग से सुलझाया जाना चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा को दिए अपने बयान में चीन के विदेश मंत्री द्वारा जम्मू, कश्मीर और लद्दाख का संदर्भ आया है। चीनी पक्ष भारत की स्थिति से अच्छी तरह अवगत है कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग है और हालिया घटनाक्रम हमारे लिए पूरी तरह से आंतरिक विषय है। हम अपेक्षा करते हैं कि अन्य देश भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करेंगे।

रविश कुमार ने आगे कहा कि चीन को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अवैध रूप से तथाकथित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के माध्यम से यथास्थिति को बदलने के प्रयासों से बाज आना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाया हुआ है। वह लगातार विभिन्न मंचों से इस मुद्दे को उठा रहा है। वहीं चीन भी पाकिस्तान का साथ दे रहा है।

इस बीच अमेरिका ने पाकिस्तान से पूछा है कि वह केवल कश्मीर में मुसलमानों के मानवाधिकारों के बारे में क्यों परेशान है और पूरे चीन में समुदाय के लोगों के साथ हो रहे बदतर व्यवहार को उजागर क्यों नहीं कर रहा है। अमेरिका की दक्षिण और मध्य एशिया के लिए कार्यवाहक सहायक सचिव एलिस वेल्स ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक विशेष ब्रीफिंग के दौरान खान की चीन के खिलाफ बात न करने के लिए आलोचना की। चीन ने झिंजियांग प्रांत में अनुमानित 10 लाख उइगर और अन्य तुर्की बोलने वाले मुसलमानों को हिरासत में लिया है।

Updated : 28 Sep 2019 1:20 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top