Top
Home > देश > प्रत्यर्पण का शिकंजा कसते ही भागा मेहुल चौकसी

प्रत्यर्पण का शिकंजा कसते ही भागा मेहुल चौकसी

पंजाब नेशनल बैंक घोटाला मामला

प्रत्यर्पण का शिकंजा कसते ही भागा मेहुल चौकसी

नई दिल्ली। पंजाब नैशनल बैंक में 14 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी और गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी के अमेरिका से एंटीगुआ भागने की खबर है। सूत्रों के अनुसार इंटरपोल द्वारा जारी नोटिस के बाद एंटीगुआ के अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है। भारत सरकार चौकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश की तैयारी शुरू कर दी थी। चौकसी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है। चौकसी ने भारत में कानून के कटघरे से बचने के लिए सोमवार को एक नया पैंतरा चला था। चौकसी ने मॉब लिंचिंग की आशंका जाहिर करते हुए विशेष न्यायालय से अपने खिलाफ जारी गैर जमानती वॉरंट को रद्द करने की मांग की थी। अब उसके एंटीगुआ भागने की खबर आ रही है। खबरों के मुताबिक चौकसी ने एंटीगुआ में बड़े पैमाने पर संपत्ति में निवेश कर वहां की नागरिकता ही हासिल कर ली है। एंटीगुआ के कानून के अनुसार अगर उस देश में कोई भी शख्स 4लाख डॉलर का निवेश करता है तो उसे वहां की नागरिकता मिल सकती है। चौकसी के एंटीगुआ का पासपोर्ट भी हासिल करने की भी खबरें हैं।

कानून का सामना करने को तैयार हैं माल्या!

करीब 9,000 करोड़ रुपये के बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी विजय माल्या भारत आने तथा कानून का सामना करने को तैयार है? आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि माल्या ने भारतीय अधिकारियों को कुछ इसी तरह का संकेत दिया है। माल्या के खिलाफ लंदन की अदालत में भारत सरकार की ओर से प्रत्यर्पण का मामला चल रहा है। समझा जाता है कि माल्या ने भारतीय अधिकारियों को संकेत दिया है कि वह भारत आने और कानूनी प्रक्रिया का सामना करने को तैयार है। साथ ही माल्या ने भगोड़ा आर्थिक अपराधी अध्यादेश के तहत उसके खिलाफ की गई कार्रवाई को चुनौती देने का भी संकेत दिया है। देश से भागे भगोड़े अपराधियों की सम्पत्ति जब्त करने के संबंध में हाल में जारी अध्यादेश के तहत सरकार माल्या की देश और विदेश में सभी संपत्तियां जब्त कर सकती है।


Updated : 2018-07-25T15:42:01+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top