Top
Home > देश > गडकरी ने कहा - एमएसएमई क्षेत्र से निर्यात बढ़ाने की नीति पर काम कर रही है सरकार

गडकरी ने कहा - एमएसएमई क्षेत्र से निर्यात बढ़ाने की नीति पर काम कर रही है सरकार

गडकरी ने कहा - एमएसएमई क्षेत्र से निर्यात बढ़ाने की नीति पर काम कर रही है सरकार

नई दिल्‍ली/नागपुर। सरकार एमएसएमई निर्यात बढ़ाने तथा आयात विकल्‍प के तौर पर स्‍थानीय उत्‍पादों को प्रोत्‍साहन देने की दो नीतियों पर काम कर रही है। केंद्रीय लघु, सूक्ष्‍म एवं मध्‍यम (एमएसमएमई) मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को लघु उद्योगों को संबोधित करते हुए यह बात कही।

गडकरी ने कहा कि देश की आर्थिक वृद्धि में एमएसएमई क्षेत्र का योगदान 29 फीसदी है, जबकि 48 फीसदी निर्यात एमएसएमई के जरिए किया जाता है। उन्‍होंने कहा कि इस तरह एमएसएमई क्षेत्र में 10-11 करोड़ लोगों को रोजगार मिला हुआ है। गडकरी ने कहा कि सरकार अभी दो नीतियों पर काम कर रही है। इसमें पहली नीति निर्यात करोबार से जुड़ा है, जिसे कैसे समर्थन दिया जा सकता है ताकि निर्याता बढ़ाया जा सके।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चमड़ा उद्योग का कुल कारोबार 140 हजार करोड़ रुपये का है, जिसमें 80 हजार से 90 हजार करोड़ रुपये का कारोबार घरेलू स्तर पर होता है। वहीं 45 हजार से 50 हजार करोड़ रुपये का कारोबार निर्यात से होता है। गडकरी ने कहा कि हमने उसे आधुनिकीकरण, अद्यतन, उत्पाद डिजाइन पर काम करने के लिए कहा है ताकि कैसे उत्पादन की लागत घटाई जाए और गुणवत्ता को सुधारा जा सके ताकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में हमारी हिस्सेदारी बढ़ सके। इसके अलावा सरकार आयातित उत्पादों के बदले देश में ही उनका विकल्प तलाश कर उत्पादन बढ़ाने की नीति पर काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि अभी तक जिन उत्पादों का विशेष रूप से आयात किया जा रहा है, उनका देश में ही विनिर्माण होना चाहिए।

गडकरी ने कहा कि हमारी इन दो नीतियों पर वाणिज्य मंत्रालय से बातचीत चल रही है और यह अंतिम चरण में है। एमएसएमई मंत्री ने कहा कि इस बारे में अध्ययन किया जाना चाहिए ताकि एक बेहतर नीति तैयार की जा सके, जिससे रक्षा उद्योग में भी एमएसएमई को काम मिल सके।

Updated : 16 Nov 2019 3:17 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top