Home > देश > फाउंटेन पेन के शौकीन थे महात्मा गांधी और पाब्लो नेरूदा : राष्ट्रपति

फाउंटेन पेन के शौकीन थे महात्मा गांधी और पाब्लो नेरूदा : राष्ट्रपति

फाउंटेन पेन के शौकीन थे महात्मा गांधी और पाब्लो नेरूदा : राष्ट्रपति
X

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को सेंटियागो में पाब्लो नेरुदा संग्रहालय को एक फाउंटेन पेन भेंट किया। इस अवसर पर कोविंद ने कहा कि महात्मा गांधी और पाब्लो नेरूदा के बीच एक समानता थी। दोनों को ही फाउंटेन पेन का बहुत शौक था। राष्ट्रपति कोविंद ने चिली प्रवास के दौरान प्लाजा डी ला इंडिया में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि भी दी। उन्होंने गांधीजी को सैंटियागो के दिल में घर देने के लिए चिली के लोगों का आभार जताया है।

राष्ट्रपति ने सेंटियागो में पाब्लो नेरुदा संग्रहालय का दौरा कर चिली के नोबल पुरस्कार विजेता और कवि राजनयिक पाब्लो नेरुदा के साहित्यिक और कला संग्रहों की सराहना की। कोविंद ने कहा कि चिली की यात्रा में सबसे पहले पाब्लो नेरूदा संग्रहालय पहुंचकर उन्हें खुशी हुई है। विश्व के महानतम कवियों में से एक, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित पाब्लो नेरुदा, एक राजनयिक और मानवतावादी थे। पूरी दुनिया के लोग आज भी उनसे प्रेरणा प्राप्त करते हैं।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि भारत में पहले स्वदेशी फाउंटेन पेन का विकास करने की प्रेरणा गांधीजी ने जिस परिवार को दी थी, उन्हीं द्वारा बनाया गया एक विशेष पेन पाब्लो नेरूदा संग्रहालय को भेंट करके मुझे प्रसन्नता हुई।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी तीन देशों की यात्रा के अंतिम चरण में रविवार को चिली में सैंटियागो पहुंचे थे। सैंटियागो (चिली) दिल्ली से लगभग 17 हजार किमी दूर है। वह चिली की यात्रा करने वाले भारत के तीसरे राष्ट्रपति हैं। भारत-चिली द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए राष्ट्रपति चिली नेतृत्व के साथ वार्ता भी करेंगे।

Updated : 1 April 2019 4:56 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top