Top
Home > देश > दिल्ली-मुंबई मेन लाइन पर ट्रेनों की संख्या ज्यादा होने के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी का आंकड़ा बढ़ा।

दिल्ली-मुंबई मेन लाइन पर ट्रेनों की संख्या ज्यादा होने के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी का आंकड़ा बढ़ा।

पश्चिम-मध्य रेलवे जोन से गुजरने वालीं 408 में से 102 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। इनमें से 148 ट्रेनें भाेपाल रेल मंडल से गुजरती हैं, जिसमें से 37 ट्रेनें 1 से 14 घंटे की देरी से चल रही हैं। इस मामले

पश्चिम-मध्य रेलवे जोन से गुजरने वालीं 408 में से 102 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। इनमें से 148 ट्रेनें भाेपाल रेल मंडल से गुजरती हैं, जिसमें से 37 ट्रेनें 1 से 14 घंटे की देरी से चल रही हैं। इस मामले में जोन की चीफ पब्लिक रिलेशंस ऑफिसर गुंजन गुप्ता का कहना है कि ब्लॉक में कमी सहित कुछ उपाय किए जा रहे हैं, जिससे इनमें से अधिकतर को आने वाले महीनों के दौरान समय पर लाने में मदद मिल सकेगी। पश्चिम-मध्य रेलवे ने एक से 30 जून तक कुछ ट्रेनों को कैंसिल तो कुछ को आंशिक रूप से निरस्त किया है। ग्वालियर-भोपाल इंटरसिटी को इसी कड़ी में बीना से भोपाल के बीच आंशिक रूप से निरस्त किया गया है। जबकि इंदौर-जबलपुर एक्सप्रेस को पूरी तरह निरस्त रखा गया है। इसके अलावा कुछ पैसेंजर गाड़ियों को भी निरस्त कर दिया गया है।

Updated : 2018-06-06T19:43:27+05:30

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top