Top
Home > देश > कांग्रेस शक्ति ऐप की मदद से राफेल डील को बनाएगी चुनावी मुद्दा

कांग्रेस 'शक्ति ऐप' की मदद से राफेल डील को बनाएगी चुनावी मुद्दा

कांग्रेस शक्ति ऐप की मदद से राफेल डील को बनाएगी चुनावी मुद्दा
X

नई दिल्ली। कांग्रेस शक्ति ऐप की मदद से नवम्बर माह में चार राज्यों में होने वाले विधानसभा और 2019 में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव में राफेल डील को अहम चुनावी मुद्दा बनाने की तैयारी में जुटी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को शक्ति एप को लेकर संगठन के नेताओं संग बैठक कर ऐप की मदद से इन कार्यकर्ताओं को एक मंच पर लाकर, राष्ट्र निर्माण और पार्टी को मजबूत करने के निर्देश दिये। खास बात ये है कि इस प्रोजेक्ट में बेहतरीन काम करने के लिए राजस्थान के 10 चुनिंदा लोगों को पार्टी अध्यक्ष ने सम्मानित किया।

दरअसल पार्टी ने शक्ति ऐप के माध्यम से देशभर में राफेल डील को लेकर मोदी सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है। इसी के तहत कांग्रेस के 50 नेता 100 शहरों में प्रेस वार्ता भी करेंगे। देशभर में पार्टी कार्य़कर्ता इस ऐप के माध्यम से जिला स्तर पर, ब्लॉक स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं से सुझाव और सूचना इकट्ठा कर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व तक पहुंचाएगी और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का संदेश आम जनता तक पहुंचा कर संगठन से सीधे आम जनता तक जोड़ने का काम करेगी।

बैठक के बाद गुजरात कांग्रेस प्रभारी राजीव सातव ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में आज शक्ति की सफलता को लेकर अहम बैठक हुई, जिसमें सर्वोत्तम प्रदर्शन करने वाले ऐप से जुड़े कार्यकर्ताओं को पुरस्कृत किया गया। ये पार्टी अध्यक्ष द्वारा गठित एक क्रांतिकारी विचार है जो जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने का काम करेगा। पार्टी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस कार्यकर्ता हर गांव, गली मोहल्ले में मौजूद हैं। शक्ति ऐप की मदद से इन कार्यकर्ताओं को एक प्लेटफॉर्म पर लाया जा रहा है, जिसके बाद इसका इस्तेमाल राष्ट्र निर्माण और पार्टी को मजबूत करने में किया जा सकेगा।

दरअसल नवम्बर माह में चार राज्यों में होने वाले विधानसभा और 2019 में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव में हवाई जहाज राफेल डील को कांग्रेस अहम चुनावी मुद्दा बनाना चाहती है। कांग्रेस अध्यक्ष ने निर्देश दिये हैं कि पार्टी इस ऐप के माध्यम से इस सौदे में 41 हजार करोड़ रुपये का घोटाला होने की बात आम जनता तक लेकर जाए। राहुल गांधी ने बैठक में कार्यकर्ताओं को जनता तक ये पहुंचाने को कहा कि मोदी सरकार ने पसंदीदा लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने चार महीने पहले शक्ति ऐप लॉन्च किया था। इस प्रोजेक्ट के जरिए कांग्रेस न सिर्फ मतदाताओं को कांग्रेस से जोड़ने का काम कर रही है बल्कि अब कांग्रेस ने शक्ति प्रोजेक्ट में बेहतर काम करने वाले कार्यकर्ताओं को भी सीधे राहुल गांधी से मिलवा कर कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम भी शुरू कर दिया है। राजस्थान के 10 चुनिंदा लोगों को शक्ति बजट में काम करने के लिए राहुल गांधी ने ना सिर्फ सम्मानित किया बल्कि बैठक में उन सभी को अपनी बात कहने का मौका भी दिया।

राजस्थान के पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह विधूड़ी ने बताया कि उन्हें शक्ति प्रोजेक्ट में बेहतरीन काम करने के लिए देशभर में पहला स्थान मिला। करीब दो घंटे चली बैठक में राहुल गांधी ने शक्ति प्रोजेक्ट के विजेताओं को बूथ स्तर तक लोगों को कांग्रेस से जोड़ने के टिप्स भी दिए तो केंद्र और प्रदेश सरकार की नाकामियों को जनता तक पहुंचाने का आह्वान भी किया। विजेताओं की मानें तो यही शक्ति प्रोजेक्ट कांग्रेस को वह चुनावी संजीवनी देगा, जिसके जरिए सत्ता तक पहुंचने का रास्ता खुलेगा।

Updated : 2018-08-19T03:22:20+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top