Top
Home > देश > देशद्रोह एवं साम्प्रदायिकता फैलाने पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हुई शिकायत दर्ज

देशद्रोह एवं साम्प्रदायिकता फैलाने पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हुई शिकायत दर्ज

देशद्रोह एवं साम्प्रदायिकता फैलाने पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हुई शिकायत दर्ज

फरीदाबाद। ट्विटर एकाउंट पर देशद्रोह एवं साम्प्रदायिकता फैलाने तथा एक विशेष धर्म की बेटियों पर अशोभनीय टिप्पणी करने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुसीबतें बढ़ सकती हैं। फरीदाबाद बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एल.एन. पाराशर ने सेक्टर-12 स्थित सेन्ट्रल थाने में मंगलवार को उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की शिकायत दी है।

शिकायत में वकील पाराशर ने लिखा है कि वह किसी राजनीतिक पार्टी विशेष से कोई ताल्लुक नहीं रखते और वह धर्मनिरपेक्ष हैं। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के ट्विटर पर कई ट्वीट देखें जिसमें वो देश में धर्म के आधार पर वैमनस्य को बढ़ावा देने का ऐसा काम कर रहे हैं, जो देश में सद्भाव बनाए रखने के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल देश की जनता को जाति धर्म पर लड़ाकर देश को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं।

पाराशर ने अपनी शिकायत में यह भी बताया कि लोकतंत्र में ऐसी भाषा के लिए कोई जगह नहीं है, जैसा कि केजरीवाल के ट्वीट में प्रयोग किया गया है। इस तरह की शब्दावली देश में साम्प्रदायिक माहौल खराब कर सकती है। उन्होंने कहा कि भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है, जिसमें किसी जाति धर्म के लोगों के बारे में किसी कोई कुछ गलत लिखने का अधिकार नहीं है। केजरीवाल के ट्वीट भड़काऊ हैं और इससे देश का माहौल खराब हो सकता है, इसलिए दिल्ली सीएम पर आईपीसी की धारा124(देशद्रोह), 153ए, 295ए, 504 और 505 के साथ आईटी एक्ट की सेक्शन-67 के तहत मामला दर्ज किया जाए।

वकील पाराशर ने शिकायत के साथ-साथ कुछ ट्वीट के स्क्रीन शॉट भी संलग्न किये हैं। मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में हाल में एपल के मैनेजर की हत्या हुई, जिसके बाद केजरीवाल में कई ट्वीट किये और इन ट्वीटों पर उन्हें मृतक की पत्नी ने फटकार लगाईं थी और बीते सोमवार को दिल्ली में भी उनके ट्वीट को लेकर शिकायत की गई थी। वकील पाराशर की शिकायत पर सेन्ट्रल थाने की पुलिस का कहना है कि इस शिकायत पर हम कानूनी सलाह ले रहे हैं कि क्या इस शिकायत पर कोई केस बन सकता है।

Updated : 2018-10-03T02:02:20+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top