Home > देश > मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से करनेे के मामले में शशि कोर्ट में पेश, धारा 499/500 के तहत कार्रवाई की मांग

मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से करनेे के मामले में शशि कोर्ट में पेश, धारा 499/500 के तहत कार्रवाई की मांग

मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से करनेे के मामले में शशि कोर्ट में पेश, धारा 499/500 के तहत कार्रवाई की मांग
X

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से करने के बयान के मामले में आरोपित और कांग्रेस सांसद शशि थरूर गुरुवार को दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने कोर्ट से कहा कि उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है। उन्हें जो समन भेजा गया है वो गलत है और उनकी तरफ से उनके वकील सलमान खुर्शीद कोर्ट में पेश होंगे। इस मामले पर अगली सुनवाई 7 अगस्त को होगी।

पिछली 7 जून को कोर्ट ने शशि थरूर को जमानत दी थी। कोर्ट ने 20 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी थी। पिछली 27 अप्रैल को कोर्ट ने शशि थरूर को बतौर आरोपी समन जारी किया था। कोर्ट ने 16 नवंबर 2018 को कोर्ट इस मामले में संज्ञान लिया था। राजीव बब्बर ने अपनी याचिका में कहा है कि शशि थरूर ने बैंगलोर में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शिवलिंग का बिच्छू कहा था जिसे न हाथ से हटाया जा सकता है और न ही चप्पल से। याचिका में कहा गया है कि शशि थरूर के इस बयान से करोड़ों लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं।

राजीव बब्बर ने कहा है कि मैं शिव का भक्त हूं और शशि थरूर के बयान ने असंख्य शिवभक्तों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है। याचिका में शशि थरूर के बयान को असहनीय बताया गया है।

याचिका में शशि थरूर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत कार्रवाई करने की मांग की गई है। आपको बता दें कि शशि थरूर ने हाल ही में बैंगलोर में लिटरेचर फेस्टिवल में कहा था कि आरएसएस के एक व्यक्ति ने उनसे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शिवलिंग पर चढ़े बिच्छू की तरह हैं, जिन्हें न हाथ लगाया जा सकता है और न चप्पल।

Updated : 25 July 2019 12:14 PM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top