Top
Home > देश > भारत और रूस की वायुसेना का संयुक्त युद्धाभ्यास शुरू

भारत और रूस की वायुसेना का संयुक्त युद्धाभ्यास शुरू

भारत और रूस की वायुसेना का संयुक्त युद्धाभ्यास शुरू
X

जोधपुर। भारत और रूस की वायुसेना का संयुक्त युद्धाभ्यास एवीन्द्र-2018 सोमवार से जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर शुरू हो गया। रूसी वायु सैनिकों ने पहले दिन भारतीय लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई और रूद्र हेलीकॉप्टर उड़ाया। आगामी 21 दिसम्बर तक चलने वाले भारतीय वायुसेना और रूस की रशियन फेडरेशन एयरोस्पेस फोर्स के संयुक्त युद्धाभ्यास की खास बात यह है कि रूसी वायुसैनिक अपने साथ लड़ाकू विमान व हेलीकॉप्टर नहीं लाए हैं। वे भारतीय वायुसैनिकों के साथ ही उनके विमान और हेलीकॉप्टर उड़ाएंगे। भारतीय वायुसेना में अधिकांश लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर और हथियार रूस से आयातित होने की वजह से रूसी एयरफोर्स खाली हाथ ही जोधपुर पहुंची है।

पश्चिमी छोर पर जहां रूसी वायुसेना के साथ युद्धाभ्यास सोमवार से शुरू हो गया, वहीं पूर्वी छोर पर पश्चिमी बंगाल के कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पर अमेरिकी वायुसेना के साथ युद्धाभ्यास कोपइंडिया-2018 चल रहा है, जो 14 दिसम्बर तक चलेगा। इसका मकसद ऑपरेशन स्किल बढ़ाना है। जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर शुरू हुए संयुक्त अभ्यास का नाम 'एवींद्र' रखा गया है।

पिछले साल अक्टूबर में भारत और रूस ने 10 दिवसीय अभ्यास किया था। इसमें उसकी तीनों सेनाएं शामिल हुई थीं। उधर भारत ने रूस के साथ रविवार को विशाखापट्टनम में नौसेना का अभ्यास भी शुरू किया। इसमें रूस की नौसेना के जहाज वरयाग, पैंटेलेयेव और बोरिस बुटोमा शामिल हुए। दोनों देशों की नौसेना का यह 10वां संयुक्त सैन्य अभ्यास है। अभ्यास 16 दिसम्बर तक चलेगा। अभ्यास के दो हिस्से होंगे। पहला हार्बर फेज और दूसरा सी फेज। हार्बर फेज विशाखापट्टनम में 12 दिसम्बर तक चलेगा। इसका मकसद दोनों देशों में सांस्कृतिक और खेलों के लिए बेहतर तालमेल बनाना है। सी फेज 13 से 16 दिसम्बर तक बंगाल की खाड़ी में होगा। इसमें पनडुब्बी युद्ध, एयर डिफेंस ड्रिल और जमीनी गोलीबारी अभ्यास आदि शामिल किए गए हैं।

युद्धाभ्यास के निरीक्षण के लिए भारत के वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ 19 दिसम्बर को जोधपुर आएंगे। भारत और रूस की वायुसेना के बीच इस तरह के अभ्यास की शुरुआत 2014 में हुई थी। यह दूसरा अभ्यास है। यह दो फेज में होता है। एवींद्र-2018 का पहला फेज दो महीने पहले 17 से 28 सितम्बर को रूस के लिपेटस्क में हुआ था।

Updated : 2018-12-12T21:56:45+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top