Top
Home > देश > चंद्रबाबू नायडू ने तोड़ा आंध्र प्रदेश की जनता का भरोसा

चंद्रबाबू नायडू ने तोड़ा आंध्र प्रदेश की जनता का भरोसा

चंद्रबाबू नायडू ने तोड़ा आंध्र प्रदेश की जनता का भरोसा
X

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को आंध्र प्रदेश की जनता और मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के नाम खुला पत्र लिखकर कहा है कि नायडू ने राज्य की जनता के भरोसे को तोड़ने का कार्य किया है। उनकी भ्रम की राजनीति का अब अंत होने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा का पूरा विश्वास 'सत्यमेव जयते' में है और आंध्र प्रदेश की जनता को भी अब मुख्यमंत्री की सच्चाई सामने आने के बाद से राज्य और देश के विकास में योगदान देना चाहिए।

शाह ने सोमवार को लिखे खुले पत्र में कहा कि तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के नेता आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चन्द्रबाबू नायडू एक बार फिर नाटक-नौटंकी पर आमादा हैं। गिरती राजनैतिक साख के कारण उनका सुर्खियां बटोरने का यह प्रयास सहज ही समझ आता है।नायडू जानते हैं कि जनता के बीच उनकी राजनैतिक साख पूरी तरह से खत्म हो चुकी है। इसीलिए वे हर वर्ग को खुश करने के लिए लोक लुभावन वादे कर रहे हैं। सामने आ रही हार को भांपते हुए उन्होंने पूरी तरह से यू-टर्न ले लिया है और अपनी असफलताओं से जनता का ध्यान भटकाने के लिए वे भाजपा और केन्द्र के विरुद्ध भ्रामक प्रचार चला रहे हैं। शाह ने कहा कि नायडू प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निजी हमले करने की सीमा तक चले गये हैं। उनमें इतना भी शिष्टाचाबचा है कि प्रधानमंत्री के आंध्र प्रदेश आगमन पर वे उनका स्वागत करें।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राजनैतिक रूप से जागरूक आंध्र की जनता उनकी सत्ता लोलुपता को साफ देख पा रही है। जल्दबाजी में अवैज्ञानिक और एकपक्षीय तरीके से प्रदेश का बंटवारा कर राज्य के हितों को अनदेखा करने वाली कांग्रेस से हाथ मिलाने के लिए, जनता नायडू को सही सबक सिखायेगी। 1984 में कांग्रेस द्वारा भूतपूर्व मुख्यमंत्री एन.टी. रामाराव की सरकार को अलोकतांत्रिक तरीके से बर्खास्त करने की घटना को नायडू भले भूल गए हों लेकिन जनता सदैव याद रखेगी।

उन्होंने कहा कि सत्ता की लालच में टीडीपी के नेता उस कांग्रेस विरोधी विचारधारा को ही भूल गये, जिसके आधार पर पार्टी के संस्थापक एन.टी. रामाराव ने, एक-एक ईंट जोड़ कर यह पार्टी खड़ी की थी। प्रदेश को विभाजित करके कांग्रेस ने जनता का भरोसा तोड़ा है और अब टीडीपी उसी कांग्रेस को फिर से सत्ता में लाना चाहती है। उनके इस कृत्य से राजनैतिक अवसरवाद की बू आती है।

पहले राजग सरकार द्वारा घोषित किये गये स्पेशल पैकेज की सराहना करने के बाद नायडू ने यह भी स्वीकार किया था कि विशेष दर्जा कोई रामबाण इलाज नहीं है। किंतु अब वह अपनी इस बात से पलट गए हैं।।

टीडीपी के डावांडोल चुनावी भविष्य के कारण हतोत्साहित होकर, वह भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए सरकार और विशेषकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ झूठे आरोप लगा रहे हैं। आंध्र प्रदेश के लोगों को भ्रमित करने के लिए तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहे हैं, सस्ते हथकंडों का सहारा ले रहे हैं।

अमित शाह ने पत्र में केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश के विकास के लिए विभिन्न परियोजनाओं का विस्तार से उल्लेख करते हुए राज्य की जनता से कहा कि चन्द्रबाबू नायडू ने आन्ध्र प्रदेश की जनता के भरोसे को तोड़ने का कार्य किया है। उनकी भ्रम की राजनीति का अब अंत होने वाला है।

उल्लेखनीय है कि नायडू ने आज दिल्ली में एकदिवसीय अनशन कर केंद्र सरकार पर आंध्र प्रदेश के साथ वादाखिलाफी का आरोप लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम विपक्षी दलों के नेताओं ने नायडू से मिलकर उनका समर्थन किया।

Updated : 12 Feb 2019 4:19 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top