Home > देश > सीबीएसई 12वीं कक्षा का परिणाम घोषित, 83.4 प्रतिशत छात्र सफल

सीबीएसई 12वीं कक्षा का परिणाम घोषित, 83.4 प्रतिशत छात्र सफल

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को 12वीं कक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। इसमें कुल 83.4 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए। लड़कियों ने लड़कों की तुलना में 9 प्रतिशत बेहतर प्रदर्शन किया।

इस वर्ष 31 लाख छात्रों ने बोर्ड की परीक्षा दी थी। इसमें कुल 83.4 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए। यह गत वर्ष की तुलना में 0.39 प्रतिशत अधिक है। इस साल लड़कियों ने लड़कों की तुलना में 9 प्रतिशत बेहतर प्रदर्शन किया। लड़कियों का कुल पास प्रतिशत 88.70 प्रतिशत है जबकि 79.4 प्रतिशत लड़कों ने परीक्षा पास की है। ट्रांसजेंडर्स का पास प्रतिशत 83.3 प्रतिशत है।

सीबीएसई ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए 10वीं और 12 वीं कक्षा के लिए फरवरी-मार्च में परीक्षाएं आयोजित की थीं। इस साल 28 ट्रांसजेंडर सहित कक्षा 10 और कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 31,14,821 उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था। परीक्षाएं देश भर में 4,974 केंद्रों और विदेशों में 78 केंद्रों पर आयोजित की गई थीं। सीबीएसई द्वारा आयोजित 12वीं कक्षा की परीक्षा के लिए लगभग 13 लाख छात्र उपस्थित हुए थे।

सीबीएसई 12वीं की परीक्षा में मुजफ्फरनगर की करिश्मा ने किया ऑल इंडिया टॉप

मेहनत ही सफलता की पूंजी होती है और अपनी मेहनत से असंभव को भी संभव बनाया जा सकता है। कुछ ऐसा ही कारनामा उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद की करिश्मा अरोरा ने कर दिखाया है।

करिश्मा ने सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा में 500 में से 499 अंक लेकर ऑल इंडिया टॉप किया है। अब वह बेहद खुश है। मुज़फ्फरनगर की लाडली करिश्मा अरोरा के भारत में प्रथम स्थान प्राप्त करने की सूचना जैसे ही उसके स्कूल एसडी पब्लिक स्कूल में पहुंची तो छात्र-छात्राओं सहित स्कूल के टीचर भी झूम उठे। एक ओर जहां करिश्मा डांस प्रतियोगिता में भी प्रथम स्थान प्राप्त करती है। वहीं आज करिश्मा ने सीबीएसई बोर्ड में प्रथम स्थान प्राप्त कर शिक्षा में भी अपना दम दिखाया है। बेटी की इस उपलब्धि से उसके परिवार के लोग भी बहुत खुश हैं।

करिश्मा ने अपनी उपलिब्ध के लिए परिजनों और स्कूल का विशेष योगदान बताया। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ मेरा ही नहीं मेरे टीचर्स, प्रिसिंपल और परिजनों का भी रिजल्ट है, जिन्होंने मेरे साथ बहुत मेहनत की है। पढ़ाई के साथ-साथ डांस को लेकर करिश्मा ने कहा कि दोनों को अच्छे से मैनेज किया है। सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई की है। अभी साइक्लॉजी ऑनर्स करना है।

करिश्मा के पिता मनोज अरोरा का कहना है कि बेटी पढ़ाई में बहुत ध्यान देती है। वह कथक डांस में टॉपर है। क्लासिकल डांस सीख रही है। उसने साइक्लॉजी (मनोविज्ञान) लिया है। डांस थेरेपी से आगे बढ़ना चाहती है। मैं बहुत खुश हूं, अपनी खुशी को शब्दों में बयां नहीं कर सकता।

करिश्मा के स्कूल की प्रिंसिपल चंचल सक्सेना का कहना है कि इसके पिताजी भी इसी कॉलेज में पढ़े हैंं और अब बेटी भी इसी कॉलेज से टॉप हुई है। मुझे बहुत खुशी है क्योंकि मुझे दादी जैसा अहसाह हो रहा है।

Updated : 2019-05-02T17:33:35+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top