Top
Latest News
Home > देश > नया कानून लाना ही समाधान नहीं, इच्छा और प्रशासनिक कुशलता दिखानी होगी : उपराष्ट्रपति

नया कानून लाना ही समाधान नहीं, इच्छा और प्रशासनिक कुशलता दिखानी होगी : उपराष्ट्रपति

नया कानून लाना ही समाधान नहीं, इच्छा और प्रशासनिक कुशलता दिखानी होगी : उपराष्ट्रपति

पुणे। पिछले दिनों हैदराबाद और उन्नाव में हुई गैंगरेप की घटनाओं ने हर किसी को हिलाकर रख दिया। ऐसे में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने वायनाड (केरल) में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि भारत दुनिया में रेप कैपिटल के रूप में जाना जाता है।

दूसरे देश पूछ रहे हैं कि क्यों भारत अपनी बहन-बेटियों की सुरक्षा नहीं कर पा रहा है। एक भाजपा विधायक रेप की घटना में शामिल है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर एक शब्द भी नहीं बोलते हैं। ये बातें उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को नागवार गुजरी। उन्होंने रविवार को यहां एक कार्यक्रम में किसी का भी नाम लिए बगैर कहा कि हमें अपने देश का नाम बदनाम नहीं करना चाहिए।

ऐसे क्रूरता के मामले में हमें राजनीति नहीं करनी चाहिए। भारतीय परंपरा में हम औरतों से मां और बहन के रूप में व्यवहार करते हैं, लेकिन इन दिनों देश के कुछ हिस्सों में जो कुछ भी हुआ है, वह शर्मनाक है और हम सबके लिए चुनौती है। नया कानून लाना ही इसका समाधान नहीं है। हालांकि मैं नया कानून या विधेयक लाने के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन हम निर्भया के लिए बिल लाए। क्या हुआ? क्या समस्या दूर हो गई? इस बुराई को दूर करने के लिए प्रबल राजनीतिक इच्छा और प्रशासनिक कुशलता दिखानी होगी।

Updated : 8 Dec 2019 12:32 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top