Top
Home > देश > कांग्रेस के सभी एमपी, एमएलए और एमएलसी एक माह का वेतन केरल के बाढ़ पीड़ितों को देंगे

कांग्रेस के सभी एमपी, एमएलए और एमएलसी एक माह का वेतन केरल के बाढ़ पीड़ितों को देंगे

कांग्रेस के सभी एमपी, एमएलए और एमएलसी एक माह का वेतन केरल के बाढ़ पीड़ितों को देंगे

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर पार्टी के सभी सांसदों, विधायकों और विधान परिषद सदस्यों ने केरल में बाढ़ से हुए जानमाल के नुकसान को देखते हुए एक महीने का वेतन बाढ़ राहत के लिए देने का फैसला किया है। इससे पहले आम आदमी पार्टी के सभी विधायक और मंत्री एक माह का वेतन केरल के बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ देने का ऐलान कर चुके हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में शनिवार को पार्टी महासचिवों, प्रभारियों, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों, विधायक दल के नेताओं की 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित पार्टी वॉर रूम में अहम एक बैठक हुई, जिसमें ये निर्णय किया गया।

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि पूरे देश में जो बाढ़ की स्थिति बनी है, जिस प्रकार से आखिरी खबर आने तक बाढ़ में 324 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा, जिनमें से 182 के करीब अकेले केरल में हैं, जहां बाढ़ की स्थिति सबसे विकट और मुश्किल है। अकेले केरल में ये अनुमान है कि जान-माल के नुकसान के अलावा 2 से 3 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने और कांग्रेस पार्टी ने ये मांग रखी है कि केरल में बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए और भारत सरकार प्राथमिकता से मदद करे। तीन हजार करोड़ के नुकसान के मुकाबले में आज तक मात्र 100 करोड़ की राहत भारत सरकार ने दी है, जो नाकाफी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ये भी अनुरोध किया है कि बाढ़ राहत में राजनीति नहीं हो सकती, बाढ़ राहत में भाजपा और गैर भाजपा सरकारों में भेदभाव नहीं हो सकता, आगे बढ़कर सबको इस त्रासदी में मदद करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के दिशा निर्देश पर केरल के हमारे भाई-बहनों की मदद के लिए कांग्रेस की सरकारें पहले से ही आगे आई हैं। पंजाब की सरकार ने 10 करोड़ रुपए बाढ़ राहत के लिए केरल की सरकार को भेजे हैं। कर्नाटक की सरकार ने भी 10 करोड़ रुपए बाढ़ राहत के लिए केरल भेजे हैं। पुड्डुचेरी की कांग्रेस की सरकार ने एक करोड़ रुपए की राशि बाढ़ राहत सहायता के रूप में भेजी है। राहुल गांधी ने ये निर्देश भी दिया है कि सभी प्रांत जो साथ में हैं और पूरे देश के सभी प्रांत, वो आगे बढ़कर बाढ़ राहत में मदद करें।

उन्होंने कहा कि आज बैठक में ये निर्णय लिया गया कि कांग्रेस पार्टी के सभी सांसद, लोकसभा और राज्यसभा सांसद, कांग्रेस पार्टी के पूरे देश के विधायक और काग्रेस पार्टी के सभी एमएलसी भी एक महीने का वेतन केरल में बाढ़ राहत के लिए देंगे। सलाह समिति जो हैं, चाहे वो पुडुचेरी में हो, चाहे तमिलनाडु में हो, चाहे कर्नाटक में हो, वहां राहत कमेटियों का गठन किया गया है। राहत कमेटियां भोजन सामग्री, दवाई और कपड़े इत्यादि बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार भेजेंगे।

सुरजेवाला ने कहा, 'इसके अलावा राजनीतिक हालात पर व्यापक चर्चा की गई। जिस प्रकार से देश में मोदी सरकार भ्रष्टाचार पर पर्दा डाल रही है, जिस प्रकार राफेल में भ्रष्टाचार का खेल चला, जिस प्रकार से चौकीदार अब भागीदार बन गए हैं, इस पर भी व्यापक चर्चा हुई और ये निर्णय किया गया कि जिला स्तर से लेकर प्रांतीय स्तर तक अगले एक महीने के अंदर मोदी सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए, 'भ्रष्टाचार का खेल राफेल', इसे उजागर करने के लिए एक व्यापक जन आंदोलन कांग्रेस पार्टी शुरू करेगी। एक-एक जिले में, एक-एक प्रांत में कांग्रेस के केन्द्रीय नेता, कांग्रेस के जमीनी स्तर तक के नेता, कांग्रेस के प्रभारी और महासचिवगण, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और सीएलपी के नेता, वो सब जाएंगे और हम ये सुनिश्चित करेंगे कि देश को राफेल के घोटाले और मोदी सरकार के भ्रष्टाचार की सच्चाई पता चले और ये सब उजागर हो।'

Updated : 2018-08-18T23:33:44+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top