Top
Home > देश > जंतर मंतर से अखिलेश ने केंद्र पर बोला हमला, पिता-पुत्र ने साझा किया मंच

जंतर मंतर से अखिलेश ने केंद्र पर बोला हमला, पिता-पुत्र ने साझा किया मंच

कयासों को धता बता अखिलेश के मंच पर पहुंचे मुलायम, केंद्र पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप

जंतर मंतर से अखिलेश ने केंद्र पर बोला हमला, पिता-पुत्र ने साझा किया मंच

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज केंद्र सरकार की घेराबंदी करते हुए कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि नोटबंदी से कितना काला धन वापस आया और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू होने के बाद कितनी नौकरियां खत्म हो गईं।

रविवार को जंतर मंतर पर सपा की साइकिल रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आज 50,000 से ज़्यादा किसान आत्महत्या कर चुके हैं और लाखों की संख्या में कारखाने बंद हो गए। नौकरी और रोज़गार के अवसर देने की बजाय सरकार ने अपनी गलत नीतियों से कल कारखानों पर ताला लगवा दिया। इसके उलट सरकार कहती है कि पकौड़ा बना लो। उन्होंने कहा कि देश में संसाधनों की कोई कमी नही है, इसके बावजूद स्थितियां खराब होती जा रही।

अखिलेश यादव ने सपा को सबसे युवा दल बताते हुए कहा कि नौजवानों, किसानों और गरीबों का भरोसा सबसे ज्यादा सपा के पास है। सपा ने अपने शासन काल में सूबे को विकास के मार्ग पर आगे ले जाने का काम किया। उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आज गन्ना किसान दुखी है। सरकार ने उसका बकाया पैसा नही दिया। किसानों की मदद के बजाय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहते हैं कि किसान ज्यादा गन्ना पैदा कर रहे हैं, इसलिए लोगों को डाटबिटीज की बीमारी हो रही। उन्होंने राज्य में मरीजों की जाति पूछकर इलाज होने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अब जनगणना हो जानी चाहिए तभी जाकर सामाजिक न्याय की बात कारगर ढंग से लागू हो सकेगी। आज सामाजिक न्याय देश की जरूरत है।

मंच पर अखिलेश ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का भव्य स्वागत किया और उनका पांव छूकर आशीष लिया। उन्होंने कहा कि नेताजी ने जो सुझाव दिए हैं, सपा उनका अक्षरशः पालन करेगी और सपा महिलाओं को मुख्यधारा में लाएगी। उन्होंने कहा कि आज नेताजी के आने से जो ऊर्जा हमें मिली है, उसकी कल्पना नहीं की जा सकती।

जंतर मंतर पर आज उत्तर प्रदेश के कई जिलों से सपा कार्यकर्ता साइकिल रैली में शामिल होने जंतर मंतर पर पहुंचे थे। बड़ी तादाद में सपा कार्यकर्ताओं को दिल्ली की सीमा से बाहर ही रोक दिया गया था। वहीं समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक और पूर्व रक्षामंत्री मुलायम सिंह यादव ने रविवार को केंद्र सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि 2014 के आम चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जो वादे किए थे उन पर वह खरी नहीं उतरी।

तमाम कयासों और शिवपाल सिंह यादव के नवगठित सेक्युलर मोर्चा में जाने की अटकलों को धता बताते हुए मुलायम सिंह यादव ने रविवार को यहां जंतर मंतर पर सपा की साइकिल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश में दो करोड़ से ज्यादा युवा बेरोजगार हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने युवाओं को रोजगार देने का वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर काला धन विदेशों से वापस लाएंगे और हर एक के खाते में 15 लाख रुपये देंगे, किंतु उन्होंने अब तक एक रुपया भी नहीं दिया।

पूर्व रक्षा मंत्री ने साइकिल रैली में शामिल कार्यकर्ताओं को कई नसीहतें भी दीं। उन्होंने कहा कि महिलाओं को विशेष तौर पर सम्मान दिया जाए, ये सपा का लक्ष्य है। उन्होंने मंच पर उपस्थित सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को खास तौर पर निर्देश दिया कि वह महिलाओं को ज़्यादा से ज्यादा टिकट देकर उन्हें चुनाव में उतारें। संगठन में भी महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करते हुए उन्हें पदाधिकारी बनाएं और हर कमेटी में महिलाओं को स्थान दें।

मुलायम ने कहा कि सपा के संगठन में ब्लॉक स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं को भागीदारी दी जाए। उन्होंने कहा कि महिलाओं की तादाद 47 प्रतिशत है और सपा को सबको साथ लेकर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और देश के युवाओं की उम्मीदें सपा से बढ़ी हुई है। उन्होंने सपा के युवा कार्यकर्ताओं से कहा कि आज पूरे देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला है, दिल्ली हो या लखनऊ में सत्तापक्ष के नेता भ्रष्टाचार में डूबे हैं। ऐसे में सपा कार्यकर्ता कोई ऐसा काम न करें कि कोई आरोप लगा सके ।

मुलायम ने कहा कि सपा की 'करनी और कथनी' में कोई अंतर नहीं है । उत्तर प्रदेश में सत्ता में आने पर सपा ने वादा पूरा किया और बेरोजगारी भत्ता दिया। मुलायम सिंह यादव ने कार्यकर्ताओ से सपा को जिताने वादा लेते हुए अपना समर्थन और आशीर्वाद अखिलेश यादव के साथ होने का भरोसा दिया।

Updated : 2018-09-24T01:30:35+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top