Home > राज्य > अन्य > राजस्थान > प्रियंका गांधी ने अलवर पीड़िता के पिता से फोन पर की बात, मदद का दिलाया विशवास

प्रियंका गांधी ने अलवर पीड़िता के पिता से फोन पर की बात, मदद का दिलाया विशवास

प्रियंका गांधी ने अलवर पीड़िता के पिता से फोन पर की बात, मदद का दिलाया विशवास
X

अलवर। जिले में सोलह साल की मूक बधिर किशोरी से बर्बरता की घटना के बाद चल रहे राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप के बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार रात पीड़िता के पिता से फोन पर बात की है और हर संभव सहायता दिलाने का विश्वास दिलाया। प्रियंका ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी पूरे मामले की जानकारी ली है। प्रियंका गांधी के फोन के बाद सीएम अशोक गहलोत ने भी पहली बार अलवर मामले में ट्वीट कर देर रात प्रतिक्रिया दी।

प्रियंका गांधी के पीड़िता के पिता से बातचीत की जानकारी देते हुए उत्तरप्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी सचिव धीरज गुर्जर ने देर रात ट्वीट कर लिखा कि अलवर में जो घटना घटी है, वो नाकाबिले बर्दाश्त है। पीड़िता के पिता से प्रियंका गांधी की फ़ोन पर बात हुई है। उन्हें हर तरह से मदद का भरोसा दिलाने के साथ ही किसी भी प्रकार की सहायता के लिए सीधा सम्पर्क करने के लिए कहा है। साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी घटना के बारे में जानकारी लेने के साथ पीड़िता के इलाज, परिवार के ख़्याल और दोषियों पर त्वरित कार्रवाई का आग्रह किया है।

इधर सीएम अशोक गहलोत ने देर रात ट्वीट करते हुए लिखा कि अलवर में विमंदित बालिका के प्रकरण के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, एसपी अलवर और बालिका का इलाज कर रहे वरिष्ठ डॉक्टरों से संपर्क बना हुआ है। डीजी पुलिस को स्वतंत्र और निष्पक्ष अनुसंधान कर शीघ्र मामले की तह तक पहुंचने के निर्देश दिए हैं। अलवर एसपी की सहायता के लिए राज्य स्तर से डीआईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में जांच के लिए अलग से टीम भेजी गई है।

इससे पूर्व शुक्रवार को अलवर मामले में पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने चौंकाने वाला दावा करते हुए दुष्कर्म से इनकार किया है। एसपी गौतम ने जेके लॉन अस्पताल जयपुर के एक्सपर्ट पैनल के आधार पर दावा किया कि बालिका से दुष्कर्म नहीं हुआ। लहूलुहान कैसे हुई, इस पर जांच जारी है। कोई नया तथ्य सामने आएगा, तब आगे बताया जाएगा। एसपी का कहना है कि मेडिकल एक्सपर्ट की रिपोर्ट के अनुसार, बालिका के प्राइवेट पार्ट्स में इंजरी है। दुष्कर्म होने जैसे फैक्ट्स सामने नहीं आए हैं। ऐसा मेडिकल एक्सपर्ट, फोरेंसिक एक्सपर्ट, टेक्निकल फैक्ट्स के आधार पर बताया गया है। मेडिकल टीम ने बालिका के प्राइवेट पार्ट्स की इंजरी के बारे में भी बताया गया है। उसी आधार पर यह कहा जा रहा है कि दुष्कर्म जैसे फैक्ट नहीं हैं। आगे हम जांच कर रहे हैं कि पुलिया पर बालिका के साथ किस तरह की घटना हुई है। जैसे ही कोई नए सबूत सामने आएंगे, बताया जाएगा।

Updated : 15 Jan 2022 8:52 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top