Home > Archived > भाजपा पार्षदों के निशाने पर आए निगम के अधिकारी, बैठक में हुआ हंगामा

भाजपा पार्षदों के निशाने पर आए निगम के अधिकारी, बैठक में हुआ हंगामा

भाजपा पार्षदों के निशाने पर आए निगम के अधिकारी, बैठक में हुआ हंगामा
X


ग्वालियर। नगर निगम के अधिकारियों की मनमानी और अमृत जल जैसी योजनाओं के बारे में पार्षदों को जानकारी नहीं देने को लेकर अब सत्ताधारी दल के पार्षदों ने नाराजगी जताई है। गुरूवार को आयोजित भाजपा पार्षद दल की बैठक में पार्षदों ने नगर निगम के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। मामला बढ़ता देख महापौर विवेक शेजवलकर ने सभी को 10 फरवरी तक निराकरण करने का आश्वासन दिया, तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ।

गुरूवार को बाल भवन में भाजपा पार्षद दल की बैठक शुरू होते ही सत्ताधारी पार्षदों में नाराजगी देखने को मिली। पार्षदों ने निगमायुक्त विनोद शर्मा से लेकर निगम अधिकारी, जेड्ओ सहित अन्य अधिकारियों को निशाने पर लेकर जमकर हंगामा किया। गुस्साए पार्षदों ने महापौर से निगम अधिकारियों द्वारा खुलकर मनमानी करने के आरोप लगाए। साथ ही मौलिक निधि से 25 हजार व 50 हजार रूपए तक की फाइलों को अटकाने व स्वीकृति न मिलने पर आम लोगों को राहत देने में अक्षम होने की बात रखी। हंगामा बढ़ता देख महापौर ने सभी पार्षदों को 10 फरवरी तक सभी समस्याओं पर निराकरण व चर्चा करने का आश्वासन दिया।

परिषद की बैठक में हो सकता है हंगामा

2 फरवरी शुक्रवार को जलबिहार में नगर निगम परिषद की बैठक आहूत की गई है। जिसमें समेकित कर बढ़ाने, जांच समितियों की रिपोर्ट पर चर्चा, जल प्रदाय सहित अनेक विषयों पर सत्ता व विपक्षी पार्षदों द्वारा हंगामा होने की संभावना है।

अमृत योजना से जुड़े अधिकारियों की ली बैठक

मंत्री माया सिंह ने गुरूवार देर शाम रानी महल स्थित अपने आवास पर अमृत योजना से जुड़े अधिकारियों की बैठक ली। साथ ही अमृत योजना में हो रहे कार्यो में ठेकेदारी फर्म व अधिकारियों से चर्चा कर कार्य समीक्षा करने के निर्देश दिए।

Updated : 2018-02-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top