Top
Home > Archived > आईएएस अफसर करते हैं परेशान, इसलिए दे रहा हूं इस्तीफा

आईएएस अफसर करते हैं परेशान, इसलिए दे रहा हूं इस्तीफा

आईएएस अफसर करते हैं परेशान, इसलिए दे रहा हूं इस्तीफा

भोपाल। वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव और मध्यप्रदेश वेंचर फाइनेंस लिमिटेड के एमडी ने आज इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे कारणों में उन्होंने आरोप लगाया है कि वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव और मध्यप्रदेश वेंचर फाइनेंस लिमिटेड के अध्यक्ष एपी श्रीवास्तव और अन्य आईएएस अफसर उन्हें लगातार अपमानित कर रहे थे। उनके इस रवैये से आहत होकर एमडी संदीप कड़वे ने इस्तीफा दिया है। उन्होंने लिखा है कि मैं उनके रवैये से बहुत दुखी हूं इसलिए मंैने बोर्ड के एमडी तथा सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया है।

उन्होंने आरोप लगाए कि श्रीवास्तव उन्हें पर्याप्त सहयोग भी नहीं कर रहे थे और एक-दो बार नहीं बल्कि कई बार उन्हें अपमानित कर चुके है। उन्होंने मीडिया को बताया कि पूना और दुबई में अपना कारोबार छोड़कर वे मध्यप्रदेश में पूरे कमिटमेंट के साथ काम करने यहां आए थे। सितंबर में भोपाल में कंपनी शुरू हुई। उन्होंने कंपनी की समस्याओं को दूर करने के हर बार बोर्ड के अध्यक्ष एपी श्रीवास्तव को जानकारियां दीं। मौखिक और लिखित पत्राचार भी किया, लेकिन उन्हें कोई सहयोग नहीं मिला। उन्होंने लिखा है कि वे पिछले एक साल से कंपनी को खड़ा करने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन कम्युनिकेशन के अभाव और बार-बार अपमानित किए जाने से दुखी होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

लगाने पड़ते हैं विभागों के चक्कर

उनका आरोप है कि हर काम के एप्रूवल के लिए बोर्ड, वित्त विभाग और विभागों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। बोर्ड के अध्यक्ष न तो समय देते है न ही क्वालिटी कम्युनिकेशन रखते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव विवेक अग्रवाल के पास भी वे अपनी समस्याएं बताने जा चुके हैं।

लोगों को रिसीव करने जाता था

कड़वे ने श्रीवास्तव पर आरोप लगाया कि श्रीवास्तव उन्हें लोगों को रिसीव करने भेजते थे। यह काम उनका नहीं है।

मुफ्त में पगार लेने वालों में से नहीं

उन्होंने कहा कि जब फंड ही नहीं, तो बैठकर क्या करेंगे, मैं मुफ्त में पगार लेने वाले अफसरों में से नहीं हूं। कड़वे का कहना है कि भोपाल में तीन फरवरी को बोर्ड की बैठक है। वे उसमें आ रहे हैं। अब वे अपनी बात वहां भी रखेंगे। उनका कहना है कि वे मुख्यमंत्री सचिवालय के अफसरों से भी इस मामले में जरूर बात करेंगे।

Updated : 2018-02-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top