Top
Home > Archived > दो माह में 14 क्लीनिक सील, कार्रवाई सिर्फ एक पर

दो माह में 14 क्लीनिक सील, कार्रवाई सिर्फ एक पर

दो माह में 14 क्लीनिक सील, कार्रवाई सिर्फ एक पर
X

धड़ल्ले से चल रही है झोलाछापों की क्लीनिक
स्वास्थ्य विभाग लापरवाह, कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खाना-पूर्ति

ग्वालियर, न.सं.। स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में संचालित फर्जी चिकित्सकों के विरूद्ध क्लीनिक सील करने की कार्रवाई की गई थी, उसमें से अधिकांश क्लीनिक दुबारा खुल गई हंै। झोलाछाप चिकित्सक बैखोफ अपनी क्लीनिक संचालित कर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने में लगे हुए हैं। उसके बाद भी सीएमएचओ इससे बेखबर हैं और आज दिन तक सिर्फ एक ही चिकित्सक के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करवा पाए हैं। जिसके चलते अब स्वास्थ्य विभाग पर सवाल खड़े हो रहे हैं, क्योंकि कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खाना-पूर्ति की गई। स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव गौरी सिंह ने सभी जिलाधीशों और पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए थे कि वह स्वास्थ्य विभाग के साथ टीम बना कर 31 दिसम्बर तक झोलाछाप के विरूद्ध कार्रवाई करें।

जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग द्वारा 29 दिनों में सिर्फ 14 क्लीनिकों को ही सील किया गया था। जबकि शहर में करीब 2000 से अधिक फर्जी क्लीनिकें संचालित हो रही हैं। कार्रवाई के दौरान कई क्लीनिकें ऐसी भी सामने आईं ंथीं, जिनके पास न तो डिग्री थी और न ही पंजीयन। उसके बाद भी झोलाछाप चिकित्सक एलोपैथी दवाओं का इस्तेमाल करते हुए पकड़े गए थे, जो गैरकानूनी है। इतना ही नहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिसम्बर माह में की गई कार्रवाई को आज दो माह बीत जाने के बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सिर्फ एक ही चिकित्सक पर थाने में प्राथमिकी दर्ज करवा पाए हैं। जबकि ठाटीपुर गोदाम बस्ती स्थित माथुर क्लीनिक, चौहान क्लीनिक, घासमण्डी स्थित भगवती क्लीनिक, चन्दन नगर स्थित डॉ. सुनील शर्मा की क्लीनिक, मानसिक आरोग्यशाला तिराहा स्थित राठौर क्लीनिक, गदाई पुरा स्थित मंगल क्लीनिक सहित अधिंकाश क्लीनिकों पर बैखोफ झोलाछाप चिकित्सक क्लीनिकों की सील तोड़ कर डाक्टरी करने में लगे हुए हैं। जिसको लेकर अब सीएमएचओ डॉ. एस.एस. जादौन पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं कि सील की गई क्लीनिकें किसकी अनुमति से दुबारा खुलीं और अगर इन्हें अनुमति नहीं मिली तो इन क्लीनिकों पर सीएमएचओ की नजर क्यों नहीं जा रही।

घाटीगांव, मोहना में भी नहीं हो सकी कार्रवाई
इसी तरह स्वास्थ्य विभाग द्वारा घाटीगांव मोहना क्षेत्र में करीब 52 क्लीनिकों पर कार्रवाई करते हुए क्लीनिकें सील की गई थीं। जिसमें से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अभी तक सिर्फ 18 पर ही परिवाद पेश कर पाए हैं।

Updated : 2018-02-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top