Top
Home > Archived > केन्द्रीय मंत्री ने कहा - मुझे नहीं पता आप दो माह में करे पूरा काम

केन्द्रीय मंत्री ने कहा - मुझे नहीं पता आप दो माह में करे पूरा काम

केन्द्रीय मंत्री ने कहा - मुझे नहीं पता आप दो माह में करे पूरा काम

सम्भाग आयुक्त बोले एजेंसी की डीपीआर तक ठीक नहीं है, कहा करेंगे पर्किंग

ग्वालियर, न.सं.। जयारोग्य चिकित्सालय परिसर में बन रहे सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल का निरीक्षण करने केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर सम्भाग आयुक्त बी.एम शर्मा, नगर निगम कमिश्नर विनोद शर्मा के साथ रविवार को अस्पताल पहुंचे। निर्माण कार्या स्थल पर पहुंचते ही सम्भाग आयुक्त बी.एम शर्मा ने मंत्री श्री तोमर को बताया कि एजेंसी अपने हिसाब से काम कर रही है, इनकी डीपीआर तक ठीक से नहीं बनी है। निर्माण कार्य में पर्किंग का भी ध्यान नहीं रखा गया, जिस कारण अस्पताल में आने वाली गाड़ियां कहा रखी जाएंगी। अभी अस्पताल में एक हजार विस्तार का नया अस्पताल बनना भी प्रस्तावित है, जिस कारण परेशानी समाने आएगी। उन्होंने यह भी बताया कि सुपरस्पेशिलिटी की निर्माण लागत पहले 64.3 करोड़ थी, जो बढ़ कर 79.6 करोड़ हो गई है, जिस कारण अस्पताल में लगने वाले उपकरण और फर्नीचर के पैसे भी दस प्रतिशत कम हो गया है, एजेंसी को पीछे की तरफ रेम्प बनाने की बात भी कही गई थी। लेकिन एजेंसी ने अभी तक नहीं बनाया। इस पर केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने एजेंसी के अधिकारियों से पूछा कि आप बताएं आपको कितना समय लगेगा इसे पूरा करने में, जिस पर एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि अभी 35 प्रतिशत काम और रह गया है। जिसमें कम से कम पाच से छह माह का समय लगेगा। इसी बीच गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. एस.एन. अयंगर ने कहा कि पिछली बैठक में एजेंसी ने दिसम्बर तक काम पूरा करने की बात कही थी, उसके बाद एजेंसी ने नबम्बर माह में काम पूरा करने की बात कही थी और अब यह पाच माह का और समय मांग रहे है। एजेंसी हमारी बात ही नहीं सुनती और न ही इनके कांट्रेक्टर को फटकार लगाते हुए कहा कि मुझे नहीं पता आप 2 माह में काम पूरा करे, इसके लिए आप इसी सप्ताह एजेंसी के कांट्रेक्टर को बुला कर सम्भाग आयुक्त और महाविद्यालय प्रबंधन के साथ बैठक करे। उन्होने सम्भाग आयुक्त श्री शर्मा को निर्माण कार्य में विलम्ब न हो, यह सुनिनिश्चि करने के साथ ही विलम्ब किए जाने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए। उल्लेखनीय है कि जयारोग्य अस्पताल में बनने वाले 200 पलंगों के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक का भूमिपूजन 28 जून 2016 को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा एवं मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था। इसका निर्माण कार्य नवंबर 2017 में पूरा होना था।

नगर निगम आयुक्त बोले एजेंसी कर रही है मनमानी

निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त विनोद शर्मा ने केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर से कहा कि एजेंसी अपनी मनमानी करने में लगी हुई है, एजेंसी को नगर निगम से कोई लेना देना ही नहीं है। इन्होंने अभी तक नगर निगम से न तो सीवर लाइन की जोड़ने की परमीशन ली और न ही पर्किंग की। यहां का पानी कहा जाएंगे। पर्किंग अन्डग्राउण्ड होनी चाहिए थी, जिससे जमीन अन्य कार्य में उपयोग की जा सके। इसी बीच सम्भाग आयुक्त बी.एम शर्मा ने नोड़ल अधिकारी डॉ. कुशवाह से कहा कि आप पर्किंग बाहर नहीं रखेंगे, यह भूमी बहुत ही मुख्य है। इसलिए आप कांट्रेक्टर को बुलाएं और नगर निगम से सम्पर्क कर अमृत परियोजना के अंतर्गत सीवर एवं अन्य कार्य कराएं।


-केन्द्री मंत्री ने कहा मुझे 10 फरवरी तक निर्माण कार्य हैंडओवर चाहिए
-मंत्री के सामने ही कुलपति ने लगाई ठेकेदार को फटकार
-कहा ठेकेदार 15-15 दिन तक काम बंद रखते है

कहां हुआ है तुम्हारा काम पूरा अगर समय रहते निर्माण करते तो ताम-तमूरे हट जाते। दो साल तक काम लटकाओगे तो मंहगाई बढ़ेगी इसलिए जल्दी काम करो और भुगतान पकड़ो। हमें हर-हाल में 10 फरवरी तक निर्माण कर्या पूरा चाहिए। यह बात केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने रविवार को जीवाजी विश्वविद्यालय में बन रहे 15 करोड़ की लागत से मल्टीआर्ट कॉम्पलेक्स का निरीक्षण करते हुए कही। मल्टीआॅर्ट कॉम्पलेक्स का उद्घाटन प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से कराने की कबायद चल रही थी। जिसको लेकर पीएमओ कार्यालय से समय भी मांगा गया, लेकिन बात नहीं बनी। इसी के चलते केन्द्री मंत्री श्री तोमर मल्टीआर्ट कॉम्पलेक्स के निर्माण कार्य की स्थिती देखने जा पहुंचे। निरीक्षण क दौरान कुलपति ने निर्माण कार्य में देरी को लेकर ठेकेदार को सबके सामने फटकार लगाई। कुलपति ने ओपन थियेटर को लेकर कहा कि ठेकेदार 15-15 दिन काम बंद कर देता है। इन्हें अगर कुछ कहो तो उल्टे जवाब सुनने मिलते हैं। यह सुनकर नरेन्द्र सिंह तोमर ने ठेकेदार से कहा कि काम लगातार जारी रखों। अगर कोई परेशानी है तो मुझे बताओ। इसके बाद केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने मल्टीआर्ट कॉम्पलेक्स के अधूरे निर्माण को लेकर पीआईयू अधिकारी अष्टपुत्रे को शांत लहजे में चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि हमें 10 फरवरी तक निर्माण कार्य हैंडओवर चाहिए फिर चाहें तो 11 फरवरी को निरीक्षण करा सकते हैं। इस बीच कुलपति ने कहा कि मुझे पीआईयू अधिकारी जनवरी तक काम निपटाने का आश्वासन देते हैं, इनकी वजह से रोज-रोज परेशान होना पड़ता है। निरीक्षण के दौरान महापौर विवेक नारायण शेजवलकर, सभापति राकेश महापौर, भाजपा जिलाध्यक्ष देवेश शर्मा, साड़ा अध्यक्ष राकेश जादौन, वरिष्ठ पार्षद मनोज तोमर, एमआईसी सदस्य सतीश बोहरे, भाजपा नेता अशोक जादौन, रामेश्वर भदौरिया सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


Updated : 2018-01-08T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top