Top
Home > Archived > तेल कारोबारी के सत्तर लाख के चेक हुए बाउंस

तेल कारोबारी के सत्तर लाख के चेक हुए बाउंस

तेल कारोबारी के सत्तर लाख के चेक हुए बाउंस


ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। तेल कारोबारी से प्रॉपर्टी के बाजार में उतरे शख्स द्वारा जारी किए गए 70 लाख रुपए राशि के तीन अलग-अलग चैक बाउंस हो गए हैं। इसके बाद लेनदार कारोबारी द्वारा कानूनी नोटिस देने के बाद मामला अदालत में परिवाद पत्र के माध्यम से दायर किया गया है। जानकारी के मुताबिक राजेंन्द्र प्रसाद कॉलोनी निवासी प्रदीप शिवहरे पुत्र चिरोंजीलाल शिवहरे और शहर के व्यवसायी यशकुमार गोयल के बीच व्यवसायिक संबंध थे, इसलिए श्री गोयल ने शिवहरे को 25-25 लाख के दो अलग-अलग चैक क्रमश: 16 अक्टूबर 2014 और 29 अक्टूबर 2014 को इंडियन बैंक के दिए थे। इसके लिए पहले 1.35 रुपए प्रति सैकड़ा और फिर दस महीने बाद रिन्यु में 1.50 रुपए ब्याज देना तय हुआ। जून 2016 में म्याद खत्म होने पर शिवहरे ने 16 जून एवं 29 जून को 25-25 लाख के एक्सिस बैंक के चैक श्री गोयल को वापस किए। यह दोनों चैक 5 सितम्बर 2016 को आईसीआईसीआई बैंक में लगाए तो वे चैक शिवहरे के बैंक खाते में पर्याप्त धनराशि न होने के कारण बाउंस हो गए। इस पर श्री गोयल ने अपने अभिभाषक घनश्याम मंगल के जरिए 1 अक्टूबर को शिवहरे के बी-32 राजेन्द्र प्रसाद कॉलोनी तानसेन रोड और कार्यालय 56 लक्ष्मीबाई कॉलोनी पर कानूनी नोटिस भेजे। श्री शिवहरे ने 11 अक्टूबर 2016 को नोटिस के जबाव में देनदारी स्वीकार की, किन्तु ड््यू तारीख आगे की बताई। इस तरह जब श्री गोयल को लगा कि शिवहरे की नीयत पैसा देने की नहीं है, तब उन्होंने न्यायालय फीस 1.62 लाख रुपये जमा कर दावा पेश कर दिया। यह मामला न्यायालय प्रथम श्रेणी की अदालत में प्र. क्र. 3380/16 के तहत पंजीबद्ध होकर विचाराधीन है।

इसी तरह श्री गोयल ने 3 सितम्बर 2014 को 20 लाख रुपये का इंडियन बैंक का चैक 12 महीने के लिए 1.35 रुपये प्रति सैकड़ा ब्याज पर प्रदीप शिवहरे को दिया। इसे 3 सितम्बर 15 को पुन: 10 महीने के लिए बढ़ाया गया। जिस पर श्री शिवहरे ने 3 जुलाई 2016 को एक्सिस बैंक का चैक दिया, जो 28 सितम्बर 2016 को पर्याप्त राशि न होने के कारण बाउंस हो गया। कानूनी नोटिस के बाद यह मामला भी अदालत की दहलीज पर है। इस तरह श्री गोयल द्वारा 70 लाख रुपये देने के बाद शिवहरे के पैसा नहीं लौटाए जाने के कारण उन्हें अदालत की शरण में जाना पड़ा है।

जमीनी सौदों में भी है विवाद

वहीं पता लगा है कि शिवहरे परिवार द्वारा जमीन के सौदे में कु छ विवाद सामने आए हैं जिसमें अशोक टॉकीज वाले स्थान पर डायवर्सन का नोटिस चर्चा में है। इसी तरह एक करोड़ रुपए के एक सौदे में जमीन शासकीय निकलने पर विवाद चल रहा है।

Updated : 2018-01-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top