Top
Home > Archived > डी.आर.ओ खिरची आज करेंगे कांग्रेसियों से चर्चा

डी.आर.ओ खिरची आज करेंगे कांग्रेसियों से चर्चा

डी.आर.ओ खिरची आज करेंगे कांग्रेसियों से चर्चा


ग्वालियर। कांग्रेस में संगठन चुनावों के चलते डीसीसी और ब्लॉक अध्यक्षों के साथ प्रदेश प्रतिनिधि एवं ब्लॉक प्रतिनिधियों के नामों को लेकर गर्माहट लगातार बढ़ रही है। भले ही इन सभी नामों पर मोटे तौर पर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया यह मन बना चुके हैं कि किसे कहां रखना है, फिर भी चुनावों की कार्यवाही चल रही है। जिसके तहत ग्वालियर के डीआरओ रमेश खिरची दो दिन के लिए शुक्रवार की दोपहर ग्वालियर आ रहे है।

उल्लेखनीय है कि शहर जिला कांगे्रस अध्यक्ष का पद पिछले दस माह से खाली है। इस बीच चुनावों की हलचल के बीच अध्यक्ष के लिए आधा दर्जन कांगे्रस नेताओं के नाम चर्चा में हैं, जिनपर श्री सिंधिया के अंतिम निर्णय लेते ही पीसीसी द्वारा घोषणा कर दी जाएगी। हालांकि डीआरओ श्री खिरची दो रोज पहले यहां आकर बीआरओ से ब्लॉक अध्यक्षों के सिलसिले में चर्चा कर गए थे, इसी के तहत वे पुन: 22 सितम्बर को ग्वालियर आ रहे हैं। वे दोपहर बाद कांगे्रस दफ्तर में कांगे्रसजन से मुलाकात करेंगे। इसलिए शुक्रवार को कांगे्रस दफ्तर में कांगे्रसियों का जमावड़ा रहेगा। जो अलग-अलग पद के दावेदार है वे पहले ही दिल्ली दरबार में अरजी लगा चुके हैं, लेकिन औपचारिकता के लिए डीआरओ के सामने मुंह दिखाई की रस्म भी जरूरी है। इसी के साथ शहर के आठ ब्लॉक अध्यक्षों व प्रदेश प्रतिनिधियों के नामों को लेकर जितने मुंह उतनी बातें सामने आ रही है। गुटबाजी में बंटे कांगे्रसी अपने-अपने पट्ठों को स्थापित कराने में जुटे हैं, और अपने पक्ष में बढ़चढ़कर दावे कर रहे हैं। इधर आठ ब्लॉकों में छह छह प्रतिनिधियों के नामों को लेकर उठापटक जारी है। पता लगा है ग्वालियर पूर्व के ब्लॉक 4 एवं 5 में मुन्नालाल गोयल अपने समर्थकों को स्थापित कराने में लगे हुए है। सूत्रों के मुताबिक ब्लॉक 4 में पुरूषोत्तम बनोरिया, देवेन्द्र पाठक, रामसुंदर रामू, सुरेन्द्र परमार, दिनेश शर्मा एवं देवेन्द्र पटेल के नाम हैं, वहीं ब्लॉक 5 में मुरारीलाल ओझा, अर्जुन जाटव, काशीराम देहलवार, पीपीएस गुर्जर वजीता, कुसुम शर्मा और कुंदन खजूरिया के नाम है।

दिग्गी समर्थक भी तेवर में

साधारण सभा की बैठक में 6 अगस्त को हंगामा करने वाले दिग्विजय सिंह समर्थक कांगे्रस नेता जहां दिल्ली में हाईकमान से शिकवे-शिकायतें करने में लगे है, वहीं वे कल खिरची से मिलकर पुन: अपनी भड़ास निकालेंगे।

Updated : 2017-09-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top