Top
Home > Archived > अयोध्या में बने राम मन्दिर, मुस्लिम इलाके में मस्जिद-ए-अमन : वसीम रिजवी

अयोध्या में बने राम मन्दिर, मुस्लिम इलाके में मस्जिद-ए-अमन : वसीम रिजवी

अयोध्या में बने राम मन्दिर, मुस्लिम इलाके में मस्जिद-ए-अमन : वसीम रिजवी

अयोध्या-फैजाबाद। अयोध्या में विवादित प्रकरण का शान्तिपूर्ण समाधान निकालने के उद्देश्य से शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी ने शनिवार को हिन्दू पक्षकार एवं दिगम्बर अखाड़ा के महन्त सुरेश दास सहित कुछ अन्य हिन्दू धर्माचार्यों से मुलाकात की। रिज़वी ने एक बार फिर अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मन्दिर बनाये जाने की पैरवी की। इसके साथ ही उन्होंने बाबर या अन्य किसी अन्य शासक के नाम पर मस्जिद बनाने की भी आलोचना की।

रिज़वी ने कहा कि विवादित मस्जिद सुन्नी नहीं बल्कि शिया वक्फ बोर्ड की है। उन्होंने कहा कि तमाम दस्तावेज और प्रमाणों से यह साबित हो चुका है कि राम जन्मभूमि पर मन्दिर को तोड़ कर मस्जिद का निर्माण कराया गया। उन्होंने कहा कि फसाद की जगह पर इबादत नहीं हो सकती है। इसलिए जन्मभूमि पर राम मन्दिर का ही निर्माण होना चाहिए।

मन्दिर के साथ मस्ज़िद बनाने के पक्ष में नहीं

रिज़वी ने कहा कि हम मन्दिर के साथ मस्ज़िद बनाने के पक्ष में नहीं है। हमें किसी मुस्लिम बहुल यानी मुस्लिम आबादी वाले इलाके को चिन्हित करके जमीन दी जाए, जिससे वहां मस्जिद का निर्माण कराया जा सके। उन्होंने मस्जिद के नाम को लेकर पूछे सवाल के जवाब में कहा कि मस्जिद किसी भी जालिम के नाम पर नहीं होनी चाहिए। हम ऐसा काला इतिहास दोबारा दोहराना नहीं चाहते, जिसमें मस्जिद उसके नाम पर हो, जिसने हिन्दुस्तान पर जुल्म ढाये हों।

बाबर और मीर बाकी जालिम शासक

उन्होंने कहा कि बाबर और मीर बाकी जैसे जालिम शासक के नाम पर मस्जिद का नाम नहीं होना चाहिए। अगर शिया वक्फ बोर्ड मस्जिद बनवायेगा तो उसका नाम मस्जिद-ए-अमन होगा, जिससे शान्ति का सन्देश जायेगा।

सुन्नी सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड की आलोचना

रिज़वी ने सुन्नी सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड पर अयोध्या मामले को कोर्ट पहुंचाकर देश को खण्डित करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि देश की शान्ति भंग करने के लिए यह किसी मुल्क की साजिश हो सकती है। शिया समाज की इच्छा है कि राम जन्म भूमि हिन्दू समाज की आस्था है, इसलिए हर हाल में यहां राम मन्दिर बनना चाहिए।

बातचीत ने निकलेगा समाधान

उन्होंने हम इन प्रस्तावों को लेकर अयोध्या आये हैं और हिन्दू पक्षकारों से बातचीत कर रहे हैं। उम्मीद है कि इससे समाधान का रास्ता निकलेगा। रिज़वी ने दो दिवसीय अयोध्या प्रवास में अन्य हिन्दू पक्षकारों से मिलकर बातचीत करने की बात कही। महन्त सुरेश दास ने शिया वक्फ बोर्ड के प्रस्ताव का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि वह कल गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर वसीम रिज़वी के प्रस्ताव की चर्चा करेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस सम्बन्ध में सहयोग मांगने की भी बात कही।

Updated : 2017-09-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top