Top
Home > Archived > डोकलाम पर गतिरोध ‘‘ज्यादा गंभीर’’ मुद्दा नहीं है - दलाई लामा

डोकलाम पर गतिरोध ‘‘ज्यादा गंभीर’’ मुद्दा नहीं है - दलाई लामा

डोकलाम पर गतिरोध ‘‘ज्यादा गंभीर’’ मुद्दा नहीं है - दलाई लामा

नई दिल्ली। तिब्बती आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने कहा कि भारत और चीन के बीच डोकलाम पर गतिरोध ‘‘ज्यादा गंभीर’’ मुद्दा नहीं है जिसको हल करने लिए ‘‘हिन्दी चीनी भाई-भाई’’ की भावना ही एकमात्र रास्ता है। धर्मगुरु ने यहां बुधवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि उन्हें नहीं लगता कि यह ज्यादा गंभीर मामला है। भारत और चीन पड़ोसी देश हैं जिन्हें आसपास ही रहना है। हां, प्रचार चीजों को जटिल बना देता है।

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित राजेन्द्र माथुर स्मृति व्याख्यान के दौरान दलाई लामा ने कहा कि 1962 में चीनी सेना बोमडिला तक पहुंच गई थी पर उसे वापस लौटना पड़ा था। भारत और चीन को एक साथ रहना है। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच सिक्किम सेक्टर के डोकलाम पर गतिरोध उस वक्त शुरू हुआ जब चीनी सेना ने वहां सड़क निर्माण का कार्य शुरू किया। दोनों देशों के बीच 50 दिनों से यह गतिरोध जारी है।

चीन का दावा है कि वह अपने क्षेत्र में सड़क निर्माण कर रहा है| उसने भारत से तत्काल अपनी सेना हटाने को कहा है। वहीं भूटान का कहना है कि डोकलाम उसकी सीमा में है| उधर चीन का दावा है कि यह क्षेत्र उसका है और इस मुद्दे पर भूटान का उसके साथ कोई विवाद नहीं है।

Updated : 2017-08-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top